Breaking News

हत्या पर आक्रोश, नियंत्रण के लिए पुलिस को करनी पड़ी काफी मशक्कत




लाइव खगड़िया : जिले के अलौली थाना क्षेत्र के सुम्भा गाजीघाट में सोमवार की रात दो पक्षों के बीच आपसी विवाद में चली गोली से 8वीं के छात्र अमित कुमार की मौत के बाद मंगलवार को पुलिस को लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ा.हलांकि पुलिस प्रशासन ने संयम दिखाते हुए काफी मशक्कतों के बाद हालात को संभाल लिया.आक्रोशित लोगों का कहना था कि पू्र्व में मृतक के मां के साथ किये गये अमानवीय व्यवहार की घटना के बाद आरोपियों के विरूद्ध यदि पुलिस सख्त कार्रवाई करती तो शायद सोमवार की घटना देखने को नहीं मिलती.दूसरी तरफ यदि पुलिस की मानें तो दोनों पक्षों के बीच मुख्य रूप से जमीनी विवाद चलता आ रहा है.जिसमें दोनों पक्षों के द्वारा कांड दर्ज कराया गया था और फिलहाल दोनों पक्षों के लोग जमानत पर हैं.साथ ही बताया जा रहा है कि थाना स्तर से इस संदर्भ में कई बार प्रयास किया गया और दोनों के बीच निरोधात्मक कार्रवाई भी की गई.

दूसरी तरफ सोमवार की रात नंद किशोर पोद्दार और साहब चौधरी के बीच उपजे विवाद की सूचना मिलते ही अलौली के थानाध्यक्ष एवं बहादुरपुर ओपी अध्यक्ष दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और गोली से घायल अमित कुमार को पुलिस की गाड़ी से इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया.लेकिन जख्मी की रास्ते में ही मौत हो गई.साथ ही पुलिस अधीक्षक मीनू कुमारी के निर्देश पर सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आलोक रंजन भी घटना स्थल पर पहुंचे और अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी गई. इस क्रम में मंगलवार की सुबह नामजद एक अभियुक्त रंजीत चौधरी को गिरफ्तार भी कर लिया गया.




उधर मंगलवार की सुबह पीड़ित के परिजनों एवं स्थानीय लोगों के द्वारा खगड़िया-बखरी मुख्य मार्ग को सुम्भा बाजार के पास जाम कर दिया गया.साथ ही आक्रोशितों के द्वारा आरोपी के घर को क्षतिग्रस्त किया जाने लगा और घर के समानों को आग के हवाले कर दिया गया.

मामले की खबर मिलते ही अलौली थानाध्यक्ष व बहादुरपुर ओपी अध्यक्ष मौके पर पहुंच कर स्थिति को काबू करने का प्रयास किया.लेकिन वहां काफी संख्या में लोग जुटे हुए थे.ऐसे में पुलिस अधीक्षक मीनू कुमारी के निर्देश पर पुलिस केन्द्र से करीब सौ लाठी पार्टी तथा चार सेक्शन सशस्त्र बल को अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) राजकुमार राज के नेतृत्व में घटना स्थल पर भेजा गया.साथ ही सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सदर पुलिस निरीक्षक सहित नगर,मुफस्सिल,मानसी व गंगौर के थानाध्यक्ष को भी घटना स्थल पर पहुंचने का निर्देश दिया गया.देखते ही देखते घटना स्थल पुलिस छावनी में तब्दील हो गई. इस क्रम में उग्र भीड़ द्वारा पुलिस कर्मियों के उपर रोड़ेबाजी की घटना को अंजाम दिया गया.आखिरकार काफी मशक्कत के बाद पुलिस  आक्रोशित भीड़ को नियंत्रित करने में सफल रही.जिसके बाद शव को दाह संस्कार के लिए भेजा गया.बहरहाल पुलिस घटना स्थल पर कैंप कर रही है.दूसरी तरफ एफएसएल की टीम भी घटना स्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य संकलित करने में जुटी हुई है.



Check Also

अलग-अलग घटनाओं में तीन की मौत

अलग-अलग घटनाओं में तीन की मौत

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: