Breaking News

औचक निरीक्षण के दौरान खामियां और लापरवाही देख भड़के डीडीसी

लाइव खगड़िया : जिले के अलौली प्रखंड के हरिपुर पंचायत में विभिन्न विभागों द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का बुधवार को उप विकास आयुक्त अभिलाषा शर्मा के द्वारा औचक निरीक्षण किया गया. इस दौरान प्राप्त शिकायत के आलोक में दो आंगनवाड़ी केंद्रों तथा हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर की गहन जांच की गई. साथ ही आवास प्लस योजना के शिकायतों की भी जांच की गई. निरीक्षण के दौरान मनरेगा योजना के तहत आवास निर्माण में मजदूरी भुगतान और पशु शेड के निर्माण की जांच की गई और आवश्यक निर्देश दिया गया.

मिली जानकारी के अनुसार हरिपुर पंचायत में आईसीडीएस के अंतर्गत चलाए जा रहे आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 273 एवं 274 की जांच के दौरान आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 273 में एक भी बच्चा निर्धारित पोशाक में नहीं पाया गया. जबकि स्टॉक पंजी, टीकाकरण पंजी आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 273 में उपलब्ध नहीं था. निरीक्षण के दौरान पाया गया कि आंगनवाड़ी केंद्र केवल एक कमरे में छप्पर डालकर चलाया जा रहा है. जबकि इसका किराया भी लिया जा रहा है. ऐसे में उपलब्ध व्यवस्थाओं को असंतोषजनक पाया गया. स्थिति यहां तक थी कि जहां बच्चे बैठे थे, वहींं चूल्हा पर खाना पकाया जा रहा था. साथ ही मेनू के अनुसार बच्चों को खाना भी उपलब्ध नहीं कराया जा रहा था.

उधर आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 274 में कोई बोर्ड लगा नहीं पाया गया. साथ ही स्टॉक पंजी भी अद्यतन नहीं किया गया था. यह आंगनवाड़ी केंद्र भी टीन शेड डालकर चलाया जा रहा था, जहां काफी गंदगी थी एवं पंखा भी नहीं लगा था. साथ ही आंगनवाड़ी केंद्र पर टीकाकरण पंजी भी उपलब्ध नहीं था.

मौके पर उप विकास आयुक्त ने उपस्थित डीपीओ, आईसीडीएस सुनीता कुमारी को हरिपुर पंचायत के शेष आंगनवाड़ी केंद्रों का स्थलीय जांच कर आज ही प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया. उन्होंने आंगनवाड़ी केंद्रों में साफ-सफाई की अच्छी व्यवस्था के साथ मेनू के अनुसार खाने की व्यवस्था करने एवं आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ विभिन्न पंजियों को अद्यतन संधारित करने का निर्देश दिया.

जिसके उपरांत उप विकास आयुक्त ने हरिपुर स्थित हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर का भी औचक निरीक्षण किया. जहां प्रतिनियुक्त डॉक्टर एवं कई कर्मी अनुपस्थित पाए गए. उप विकास आयुक्त ने अनुपस्थित डॉक्टरों एवं कर्मियों का आज का वेतन स्थगित रखने का निर्देश दिया. निरीक्षण के दौरान सेंटर के चारों ओर गंदगी और न्यू बोर्न चाइल्ड सेंटर में कचरा पाया गया. साथ ही वहां रेडिएंट वार्मर एवं अन्य उपयोगी मशीन उपलब्ध नहीं था और प्रसव उपरांत बच्चों का टीकाकरण भी नहीं किया गया था. जिस पर उप विकास आयुक्त ने क्षोभ व्यक्त किया. हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर में जनरेटर लॉग बुक भी उपलब्ध नहीं था और रोगियों को जलपान एवं भोजन भी नहीं दिया जा रहा था. वहीं इलाज के लिए आए ग्रामीणों ने मौके पर बताया गया कि चिकित्सक प्रतिदिन नहीं आते हैं. साथ हघ भंडार पंजी एवं दवा वितरण पंजी निरीक्षण हेतु उपलब्ध नहीं कराया गया. प्रसव कक्ष में भी गंदगी थी और दुर्गंध फैला हुआ था. ट्यूबवेल के पास भी गंदगी पाई गई. स्थिति यहां तक थी कि जिला स्तर से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर सहित प्राप्त उपकरण प्राप्त अभी तक डब्बे में ही बंद था और इनका इस्तेमाल मरीजों के इलाज के लिए नहीं किया जा रहा था. मौके पर उप विकास आयुक्त ने रोस्टर के अनुसार चिकित्सकों की उपस्थिति और उपकरणों को विधिवत लगाने का निर्देश दिया. साथ ही उन्होंने साफ-सफाई एवं रोगियों को खाना उपलब्ध कराने वाले एजेंसियों को काम सही तरीके से करने को लेकर निर्देशित किया गया.

उप विकास आयुक्त ने आवास प्लस योजना के प्राप्त दो शिकायतों को लेकर भी स्थलीय निरीक्षण किया और प्रखंड विकास पदाधिकारी मनीष कुमार को आवश्यक निर्देश दिया. उप विकास आयुक्त ने मनरेगा से संबंधित योजनाओं की भी जांच की. इस क्रम में मनरेगा के तहत पशु शेड के निर्माण की भी जांच की गई और पंचायत रोजगार सेवक को योजनाओं को पूर्ण कराने का निर्देश दिया गया. साथ ही मनरेगा के तहत स्वीकृत सभी योजनाओं को समय से पूरा करने का निर्देश मनरेगा पीओ को दिया गया. उधर अलौली के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का औचक निरीक्षण के दौरान कुछ डॉक्टर अनुपस्थित पाए गये. साथ ही साफ सफाई की स्थिति भी अच्छी स्थिति नहीं थी. जिस पर उप विकास आयुक्त ने गहरी नाराजगी जताई. वहीं बेडशीट को भी दिन के हिसाब से रोज बदलने का निर्देश दिया. जबकि नवजात शिशु को डिस्चार्ज करने से पूर्व टीका लगाने और उपलब्ध उपकरणों को प्रयोग में लाने का निर्देश दिया. उप विकास आयुक्त ने दो अनुपस्थित चिकित्सकों के साथ संगणक सह लिपिक मनीष कुमार सीडीपीओ के कार्यालय अवधि से 1 घंटे पूर्व अनुपस्थित रहने के संबंध में स्पष्टीकरण का निर्देश दिया.

उप विकास आयुक्त के औचक निरीक्षण के दौरान डीपीओ आईसीडीएस सुनीता कुमारी, जिला पीएमयू लीड यशपाल, प्रखंड विकास पदाधिकारी मनीष कुमार, सीडीपीओ विनीता कुमारी, केयर इंडिया के डीटीएल अभिनंदन आनंद, मनरेगा पीओ सहित संबंधित कई कर्मी उपस्थित थे.

Check Also

पुलिस व अपराधी के बीच मुठभेड़ में दारोगा घायल, जख्मी अपराधी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस व अपराधी के बीच मुठभेड़ में दारोगा घायल, जख्मी अपराधी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: