Breaking News

शहादत को सलाम : हर आंखें नम और हर दिल में दर्द

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जम्मू कश्मीर में हुए ग्रेनेड विस्फोट में एलओसी पर तैनात सेना के कैप्टन आनंद कुमार की शहादत की खबर से उनके पैतृक गांव जिले के परबत्ता प्रखंड के शिरोमणि टोला नयागांव में मातम छा गया है.

बताया जाता है कि 1 जुलाई को ही गृह प्रवेश पूजा का आयोजन धूमधाम से किया गया था. जिसके उपरांत 10 जुलाई को आनंद अपनी ड्यूटी पर चले गए थे.

चंद दिनों पहले जिस घर में जश्न व खुशियां थी, वहां आज गम का चादर पसरा हुआ था. वहीं शहीद के माता-पिता बिलख रहे थे. इस क्रम में शहीद कैप्टन की मां रोते-रोते बेहोश हो जा रहीं थीं. साथ ही मौके पर मौजूद हर की आंखें नम थी. परिजनों की मानें तो शहीद कैप्टन का पार्थिव शरीर मंगलवार देर शाम तक पहुंचने की सूचना मिली है.

इधर पूर्व जिला परिषद सदस्य शैलेंद्र कुमार शैलेश, बहिष्कृत हितकारी संगठन के संस्थापक संजीव डोम आदि शहीद के पैतृक गांव पहुंच कर शोक संतप्त परिवार को ढ़ाढस बंधाया. साथ ही शहीद के घर पर ग्रामीणों की भीड़ जुटी थी और हर शख्स शोक संतप्त परिवार के साथ खड़ा था. वहीं ग्रामीणों ने बताया कि कैप्टन आनंद देश का जाबांज बेटा था, जिन्होंने कर्म पथ पर शहीद होकर वीर गति को प्राप्त किया.

उधर कैप्टन आनंद कुमार की शहादत पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पूर्व केंद्रीय मंत्री सचिन पायलट पायलट, केन्द्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे, बिहार सरकार के उद्योग मंत्री शहनबाज हुसैन, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, राष्ट्रीय जन-जन पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार, स्थानीय विधायक डॉ संजीव कुमार आदि ने शोक व्यक्त किया है.

2016 में आज ही के दिन CRPF जवान दिवाकर हुए थे शहीद

18 जुलाई 2016 को जिले के परबत्ता प्रखंड के पसराहा थाना क्षेत्र के झंझरा निवासी सीआरपीएफ कोबरा बटालियन 205 के जवान दिवाकर कुमार औरंगाबाद जिले के सीमावर्ती इलाके में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हो गए थे.

जाबांज दिवाकर झंझरा गांव के तनुकलाल तिवारी और सुनीता देवी की इकलौते संतान थे. उनके शहादत दिवस पर सोमवार को झंझरा के युवाओं व शहीद के परिजनों के प्रयास से गांव में वीर सपूत दिवाकर के स्मारक स्थल पर प्रतिमा का अनावरण पूर्व विधायक पूनम देवी यादव, जिला परिषद सदस्य जयप्रकाश यादव आदि के द्वारा किया गया.

यह भी पढ़ें

Check Also

एक झपकी लगी और उजड़ गई दुनिया, किसी घर का बुझा चिराग तो किसी का उजड़ा सुहाग

एक झपकी लगी और उजड़ गई दुनिया, किसी घर का बुझा चिराग तो किसी का उजड़ा सुहाग

error: Content is protected !!