Breaking News

पढ़ाई तथा व्यवसाय के लिए दिव्यांग जनों को दिया जाएगा बैटरी चालित ट्राई साइकिल,ऑनलाइन करें आवेदन

लाइव खगड़िया : मुख्‍यमंत्री दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण छत्र योजना अन्‍तर्गत दिव्‍यागजनों को नि:शुल्क बैट्री चालित ट्राई साइकिल का वितरण किया जाना है और इसके लिए दिव्यांग 08 जुलाई से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. मामले पर सामाजिक सुरक्षा कोषांग सह दिव्यांगजन सशक्तिकरण के सहायक निदेशक राजीव कुमार ने बताया है कि बिहार सरकार की दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण निदेशालय, समाज कल्‍याण विभाग की यह एक महत्‍वपूर्ण पहल है और
मुख्‍यमंत्री दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण छत्र योजना अन्‍तर्गत दिव्‍यांगजनों को बैट्री चालित ट्राई साइकिल के लिए 08 जुलाई से आवेदन ऑनलाईन प्राप्‍त किये जायेंगे. आवेदक समाज कल्‍याण विभाग के बेबसाईट https://state.bihar.gov.in/socialwelfare पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

योजना के लिए पात्रता


1. चलंत लोकोमोटर दिव्‍यांगजन छात्र/छात्राएं, जिनका आवासन बिहार राज्‍य स्थित महाविद्यालय/विश्‍वविद्यालय परिसर से तीन किलोमीटर या उससे अधिक दूरी पर हो या फिर वैसे चलंत (लोकोमोटर) दिव्‍यांगजन, जो स्‍वावलंबन के उद्देश्‍य से बिहार राज्‍य में रोजगार करते हों. जो परिवार के कमाऊ सदस्‍य हों तथा उनके आवास से उनका रोजगार स्‍थल तीन किलोमीटर या उससे अधिक दूरी पर हो.

  1. बिहार राज्‍य के स्‍थायी निवासी हों एवं बिहार में आवासन अनिवार्य हो.
  2. आय अधिकतम 02 लाख प्रतिवर्ष.
  3. आयु-18 वर्ष या उससे अधिक हो.
  4. दिव्‍यांगता प्रतिशत- न्‍यूनतम 60 प्रतिशत चलंत दिव्‍यांगता हो.

आवश्यक कागजात

आवेदन के साथ आधार कार्ड, सक्षम स्‍तर से निर्गत आय प्रमाण-पत्र, आवासीय प्रमाण पत्र, महाविद्यालय/विश्‍वविद्यालय का आई. कार्ड (पहचान पत्र), रोजगार या व्‍यवसाय संबंधी प्रमाण पत्र, मान्‍यता प्राप्‍त दिव्‍यांगता प्रमाण पत्र एवं फोटो आदि संलग्‍न करना अनिवार्य होगा.

पात्र आवेदकों को ‘प्रथम आओ एवं प्रथम पाओ’ के आधार पर लाभान्वित किया जायेगा. अधिक जानकारी के लिए जिला के सहायक निदेशक, जिला दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण कोषांग, खगड़िया (मोबाइल नंबर 9304144908) अथवा संबंधित प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी या बुनियाद केन्‍द्र, खगड़िया के प्रबंधक अलंकार कुमार (मोबाइल नंबर 9905551621) और बुनियाद केंद्र, बेलदौर के प्रबंधक अमानुल्लाह अथर (मोबाइल नंबर 8271994614) से संपर्क किया जा सकता है.

Check Also

इंजीनियरिंग में पढ़ने के दौरान नीतीश देखा करते थे सिनेमा भी…

इंजीनियरिंग में पढ़ने के दौरान नीतीश देखा करते थे सिनेमा भी...

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: