Breaking News

तीन दिनों के अंदर विभिन्न घटनाओं में दर्जन भर लोगों की मौत

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले के गोगरी प्रखंड के पौरा ओपी क्षेत्र के मैरा स्थित मैरा धार में डूबने से दो बच्चियों की मौत हो गई है. बताया जाता है कि दोनों शौच को गई थी और पैर फिसलने से दोनों गहरे पानी में चली गई. घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी और दोनों बच्चियों का शव मैरा धार से बाहर निकाला गया. मृतका की पहचान बड़ी मैरा निवासी जुगेश्वर सदा की आठ वर्षीय पुत्री रूबी कुमारी और दशरथ सदा की साथ वर्षीय पुत्री सुधा कुमारी के रूप में हुई है. हादसे की सूचना मिलते ही पौरा पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों के शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. इधर घटना के बाद परिजनों के बीच कोहराम मचा हुआ है.

उल्लेखनीय है कि बीते तीन दिनों में जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में अलग-अलग घटनाओं में दर्जन भर लोगों की मौत हो चुकी है. बीते दिनों बेलदौर थाना क्षेत्र में वृद्ध महिला व परबत्ता थाना क्षेत्र में एक किसान की हत्या कर दी गई थी. जबकि अन्य थाना क्षेत्रों में अलग-अलग घटनाओं में चार की डूबने से मौत हो गई है. 18 मार्च को जिले के मानसी थाना क्षेत्र के अमनी गांव में बागमती नदी में डूबकर एक किशोर की मौत हुई थी. ‌जबकि बेलदौर थाना क्षेत्र के तेलिहार पंचायत अंतर्गत वार्ड नंबर 6 में आपसी विवाद को लेकर एक वृद्ध महिला की हत्या कर दी गई थी.

19 मार्च को सड़क दुर्घटना में पसराहा थाना क्षेत्र के देवठा बजरंगबली के पास दो बाइक के बीच टक्कर में एक युवक की मौत हो गई थी. जबकि तीन अन्य घायल भी हुए थे. विभिन्न घटनाओं में जिले में मौत का सिलसिला यहीं नहीं रुका. 19 मार्च की रात ही परबत्ता थाना क्षेत्र के सियादपुर अगुवानी पंचायत के डुमरिया बुजुर्ग के एक किसान की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इधर रविवार को महेशखूंट थाना क्षेत्र के पकरैल चौक के पास एक अनियंत्रित ट्रैक्टर की चपेट में आने से 12 वर्षीय बालक की मौत हो गई है. घटना से गुस्साए लोगों ने सड़क जाम कर दिया. इधर पसराहा में ट्रेन से कटकर एक 70 वर्षीय वृद्ध की मौत हो चुकी है. गोगरी थाना क्षेत्र के लक्ष्मीनगर हाट में सुई लेने से महिला की मौत हो चुकी है. जबकि रविवार को महेशखूंट थाना क्षेत्र के मैरा के एक धार में डूबने से दो बच्ची की भी मौत हो गई है. जिले के अलौली थाना क्षेत्र में भी विभिन्न घटनाओं में तीन दिनों के अंदर तीन की मौत हुई है.

Check Also

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: