Breaking News

खगड़िया : महिलाओं ने 62.13 फीसद वोटिंग कर मतदान में पुरुषों को छोड़ा पीछे




लाइव खगड़िया (मनीष कुमार) : सलाम करना होगा आधी आबादी को. यह उनका उत्साह और जोश ही था, जो जिले का मतदान प्रतिशत 58.19 फीसद तक पहुंचा गया. हलांकि मंगलवार को मतदान समाप्त होने के बाद अनुमानित तौर पर जिले का मतदान प्रतिशत 56.1 बताया गया था. लेकिन अब जो जानकारी मिल रही है उसके अनुसार जिले का मतदान प्रतिशत 58.19 रहा है. जबकि वर्ष 2015 के चुनाव में खगड़िया जिले का मतदान प्रतिशत 59.29 प्रतिशत रहा था. 

इस वर्ष के चुनाव में खास बातें रही है कि मतदान में महिला व युवतियों की भागीदारी अधिक रही है और मतदान को लेकर उनका उत्साह व जोश पुरुषों से अधिक रहा है. गौरतलब है कि जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों में महिला मतदाताओं की संख्या 5 लाख 47 हजार 402 था. जिसमें से 3 लाख 40 हजार 121 महिला मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. इस तरह से संख्या के लिहाज से महिला मतदाताओं का मतदान प्रतिशत 62.13 फीसद रहा है. जबकि जिले के 5 लाख 84 हजार 936 पुरुष मतदाताओं में से 3 लाख 14 हजार 316 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया और संख्या के लिहाज से पुरुष मतदाताओं का मतदान प्रतिशत 53.73 का रहा है. उल्लेखनीय है कि चुनाव में जिले में कुल 11 लाख 24 हजार 671 महिला व पुरुष मतदाताओं को अपने मताधिकार का प्रयोग करना था. जिसमें से 6 लाख 54 हजार 437 मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया. 

जिले के परबत्ता विधानसभा क्षेत्र में 1 लाख 54 हजार 851 महिला मतदाताओं को वोटिंग करना था. जिसमें से वहां 90 हजार 996 महिला मतदाताओं के द्वारा मताधिकार का प्रयोग किया और परबत्ता में महिला मतदाताओं का वोटिंग परसेंटेज 58.76 रहा है. जबकि बेलदौर में 1 लाख 47 हजार 347 महिला मतदाताओं में से 92 हजार 888 ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया और यहां महिला मतदाताओं का वोटिंग परसेंटेज 63.04 रहा है. जबकि अलौली के 1 लाख 21 हजार 296 महिला मतदाताओं में से 81 हजार 451 एवं खगड़िया विधानसभा के 1 लाख 23 हजार 908 महिला मतदाताओं में से 74 हजार 786 ने मताधिकार का प्रयोग किया. अलौली में महिला मतदाताओं का मतदान प्रतिशत 67.15 फीसद एवं खगड़िया में 60.35 फीसद रहा है.

Check Also

महाविद्यालयों से विद्यालयों में इंटर छात्रों के स्थानांतरण की कवायद पर आक्रोश

महाविद्यालयों से विद्यालयों में इंटर छात्रों के स्थानांतरण की कवायद पर आक्रोश

error: Content is protected !!