Breaking News

उफनाई नदियां,बांध व तटबंधों की सुरक्षा को लेकर निगरानी का निर्देश

खगड़िया : कोसी और बागमती सहित जिले में विभिन्न नदियों का जलस्तर बढने का सिलसिला जारी है.मिली जानकारी के अनुसार बागमती नदी संतोष स्लूईस के पास खतरे की निशान से उपर बह रही थी.वहीं कोसी बलतारा में खतरे की निशान से लगभग 22 सेंटीमीटर नीचे थी.लेकिन बताया जा रहा कि कोसी के जलस्तर में वृद्धि जारी है.इस बीच गंगा व बूढी गंडक का जलस्तर भी बढना शुरू हो गया है.लेकिन दोनों ही नदियां अभी खतरे की निशान से काफी नीचे बह रही है.दूसरी तरफ नदियों के जलस्तर बढने के साथ ही लोगों के बीच दहशत का माहौल पैदा हो गया है.वहीं तटबंध के अंदर बसे लोगों की परेशानी बढ गई है.जिले के अलौली प्रखंड के चेराखेरा पंचायत अंतर्गत उत्तरी बोहरवा एवं दक्षिणी बोहरवा में बागमती नदी में कटाव जारी रहने से स्थानीय लोग दहशत में है.जबकि बदला-नगरपाड़ा तटबंध के 31-32वें किलोमीटर में वीरवास स्थल के पास बाढ नियंत्रण विभाग के अधिकारी कैंप कर बाढ नियंत्रण कार्य में लगे हुए हैं.जबकि बेलदौर प्रखंड के चोढली जमींदारी बांध के 13वें किलोमीटर में बारूण स्थल के पास बांस व ईसी बैग का कार्य चलने की सूचना है.बताया जाता है कि वहां कोसी की धारा का मुंह मोड़ने का प्रयास जारी है.हलांकि बाढ नियंत्रण विभाग के द्वारा जिले के सभी तटबंध व बांध को सुरक्षित बताया जा रहा है.साथ ही जिले के वरीय पुलिस पदाधिकारी के द्वारा भी पुलिसकर्मियों को बाढ के मद्देनजर चौकसी बरतने का निर्देश दिया गया है.इस क्रम में सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने शुक्रवार को आयोजित अपराध गोष्ठी के दौरान उपस्थित विभिन्न थाना अध्यक्षों को संभावित बाढ के मद्देनजर चौकसी बरतने का आदेश दिया है.वहीं परबत्ता थाना परिसर में गोगरी अनुमंडल के थानाध्यक्षों की मासिक अपराध गोष्ठी के दौरान गोगरी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पी.के.झा ने  भी पुलिसकर्मियों को बांध व तटबंधों की सुरक्षा को लेकर निगरानी ऱखने का व विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है.

यह भी पढें : चुनावी राजनीति में रालोसपा के लिए तुरूप का पत्ता साबित हो सकते हैं ई.धर्मेन्द्र

Check Also

विधायक ने श्रीमद् भागवत कथा का किया उद्घाटन

विधायक ने श्रीमद् भागवत कथा का किया उद्घाटन

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: