Breaking News

…और संकट में फंसे मजदूरों की सहायता के लिए पहुंच गया विधायक दूत




लाइव खगड़िया : कोरोना वायरस के बढते प्रकोप के बीच लॉक डाउन से जिले के परबत्ता प्रखंड के कई मजदूरों के पटना में फंसे होेने और उनके दाने-दाने के लिए मोहताज होने की खबर शनिवार की सुबह ‘लाइव खगड़िया’ ने चलाई थी. साथ ही उनके दर्द को प्रमुखता से प्रकाशित किया था.

उस खबर को एक बार फिर पढ़ लें

रूपये खर्च व राशन भी खत्म, पटना में फंसे मजदूरों को किसी मसीहे का इंतजार

खबर प्रकाशित होने के बाद खगड़िया के विधायक पूनम देवी यादव ने मामले को गंभीरता से लिया और लॉक डाउन की वजह से रोजगार ठप होने से भूखमरी की कगार पर पहुंच चुके उन मजदूरों तक जरूरी खाद्यान उपलब्ध कराकर संकट की घड़़ी में जरूरतमंदों की मदद करने का एक मिसाल कायम कर गये. यहां यह भी देखना दीगर होगा कि पटना में फंसे मजदूर उनके विधानसभा क्षेत्र से नाता नहीं रखते हैं. बावजूद इसके विपदा की इस घड़ी में उन्होंने मानवता के नाते सहायता कर उन मजदूरों के लिए एक मसीहे के रूप में सामने आये.


मामले को लेकर पटना में फंसे जिले के परबत्ता प्रखंड के लगार गांव निवासी धर्मवीर ने बताया कि हालात की जानकारी मिलते ही विधायक पूनम देवी यादव ने उनसे मोबाइल पर संपर्क किया और फिर उन्होंने त्वरित रूप से पहल करते हुए शनिवार की दोपहर अपने एक कार्यकर्ता को उन तक भेजा. जिन्होंने स्थानीय एक दुकान से 25-25 किलो आटा-चावल, दाल, नमक, तेल सहित अन्य खाद्य सामग्री उन्हें उपलब्ध करा दी. संकट की घड़ी में सहायता पहुंचाने के लिए उन्होंने विधायक के प्रति आभार व्यक्त किया है. 

उल्लेखनीय है कि लॉक डाउन के दौरान जिला सहित बिहार से बाहर फंसे लोगों को सहायता पहुंचाने का विधायक पूनम देवी यादव का यह कोई पहला प्रयास नहीं था. इसके पूर्व भी वे दिल्ली, पंजाब, मध्यप्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडू, महाराष्ट्र, गुजरात आदि राज्यों में फंसे बिहारी मजदूरों को अपने स्तर से पहल करते हुए सहायता पहुंचा चुकी है और यह सिलसिला जारी है. मिली जानकारी के अनुसार इस कार्य में विधायक पुत्र जदयू के प्रदेश उपाध्यक्ष साम्ब वीर भी अपनी मां को भरपूर सहयोग दे रहे हैं.

Check Also

महाविद्यालयों से विद्यालयों में इंटर छात्रों के स्थानांतरण की कवायद पर आक्रोश

महाविद्यालयों से विद्यालयों में इंटर छात्रों के स्थानांतरण की कवायद पर आक्रोश

error: Content is protected !!