Breaking News

पीएम ने की 5 अप्रैल को दीया जलाने की अपील, तो कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने कही ये बात




लाइव खगड़िया : कोरोना वायरस का देश में बढ़ते कहर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को एक वीडियो जारी कर देश की एकजुटता दिखाने के लिए जनता से 5 अप्रैल को रात 9 बजे नौ मिनट के लिए अपने घर की सारी लाइट बंद कर मेन गेट, बालकनी या छत पर दीया, मोमबत्ती, टॉर्च या मोबाइल की फ़्लैश लाइट जलाने की अपील किया है. पीएम मोदी की इस अपील पर रिएक्शन आने का सिलसिला शुरू हो चुका है.





प्रधानमंत्री की अपील पर कांग्रेस कमिटी के जिलाध्यक्ष कुमार भानू प्रताप उर्फ गुड्डू पासवान ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री गरीबों का मजाक उड़ा रहे हैं. उन्होंने कहा है कि विगत दिनों पीएम के कुछ ऐसी ही अपील पर 22 मार्च को हजारों लोग एक साथ सड़क पर थाली पीटते नजर आये थे. जिससे सोशल डिस्टेंसिंग के अह्वान को भारी धक्का पहुंचा था. साथ ही कांग्रेस के जिलाध्यक्ष ने प्रधानमंत्री को देश के गरीबों पर नजर रखने की सलाह देते हुए सवाल खड़ा किया है कि जिन गरीबों के घरों में लॉकडाउन की काऱण चूल्हे नहीं जल रहे हैं, जिनके पास टार्च या मोबाइल नहीं है और ना ही उनके पास मोमबत्ती या केरोसिन खरीदने के पैसे हैं, तो वे क्या करेंगें !




कांग्रेस के जिलाध्यक्ष गूड्डू पासवान ने खर-पतबार के घरों में रहने वाले गरीबों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाया है कि अप्रैल की तेज पछुआ हवा के बीच घर के मोखे पर दीया जलाने से आगजनी की घटना भी घटित हो सकती है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा हर घर के मोखे पर दीप या मोमबत्ती जलाने का आह्वान गरीबों के साथ मजाक है. साथ ही उन्होंने कहा है कि देश प्रदूषण का दंश झेल रहा है और प्रदूषित वातारण में तरह-तरह की बीमारियां कहर बरपा रही है. ऐसे समय में दीये जलाने जैसी भावनात्मक सलाह देने से बेहतर महामारी के खिलाफ जन-जागरण अभियान चलाना होता.


Check Also

जदयू की नयी जिला कार्यकारिणी का हुआ गठन, देखें लिस्ट

जदयू की नयी जिला कार्यकारिणी का हुआ गठन, देखें लिस्ट

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: