Breaking News

शहादत दिवस पर याद किये गए वीर सपूत धन्ना माधव

लाइव खगड़िया : शहादत दिवस पर देश की आजादी के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले वीर सपूत धन्ना और माधव को श्रद्धांजलि दिया गया. इस क्रम में जिले के मानसी में शहीद धन्ना-माधव स्मारक स्थल पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया गया. वहीं युवा शक्ति के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नागेंद्र सिंह त्यागी ने संबोधित करते हुए कहा कि देश की आजादी के लिए भारत छोड़ों आंदोलन के दौरान युवाओं ने आगे बढ़कर अंग्रेजों के खिलाफ आवाज बुलंद करने सड़क पर उतर गए थे. इस क्रम में 13 अगस्त 1942 को मानसी में धन्ना-माधव के नेतृत्व में युवाओं ने हाथ में तिरंगा लेकर मानसी स्टेशन के सामने अंग्रेजों के खिलाफ नारेबाजी करने लगे थे. हलांकि अंग्रेज के सिपाहियों ने उन्हें डराया धमकाया, लेकिन धन्ना-माधव के नेतृत्व में युवाओं ने डटकर मुकाबला किया. साथ ही उन्होंने कहा कि धन्ना-माधव के नेतृत्व में अंग्रेजों के खिलाफ आंदोलन में अंग्रेज के सिपाही के लाख डराने के बाद भी जब वे नहीं माने तो अग्रेज सिपाही ने भीड़ पर गोली चला दी. जिससे धन्ना-माधव के सीने में गोली लगी और उन्होंने देश की आजादी के लिए अपनी जान की आहुति दे दी.

मौके पर शहीद धन्ना-माधव स्मारक समिति के अध्यक्ष छेदी प्रसाद सिंह, संरक्षक विजय कुमार सिंह, जदयू के जिलाध्यक्ष बबलू मंडल, पूर्व मुखिया प्रमोद कुमार सिंह, जन अधिकार युवा परिषद के जिलाध्यक्ष अभय कुमार गुड्डू, नशामुक्त भारत के संस्थापक प्रेम कुमार यशवंत ने अमर शहीद धन्ना-माधव की संघर्ष गाथा की चर्चा करते हुए कहा कि उन्हें सदियों तक भूलाया नहीं जा सकता है. जबकि जवाहर प्रसाद सिंह, पूर्व सरपंच पप्पू देव, पूर्व सरपंच रामप्रवेश यादव, समाजसेवी सुनील कुमार सिंह, युवा शक्ति के जिला महासचिव मो.आलम राही, जिला सचिव अजीत कुमार पप्पू, कोषाध्यक्ष नीरज कुमार यादव, अधिवक्ता कमल किशोर यादव, छात्र नेता अमृत राज, रतन कुमार सिंह, अभिषेक कुमार, धर्मेंद्र पौद्दार ने कहा कि आज देश के आजादी में बलिदान देने वालों को लोग भूलते जा रहे हैं. जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है. वहीं सभी ने आजादी के क्रांतिकारी शहीदों को सदैव याद रखने का संकल्प लिया.

Check Also

खगड़िया के लिए ब्लैक संडे साबित हुआ 4 सितंबर का दिन

खगड़िया के लिए ब्लैक संडे साबित हुआ 4 सितंबर का दिन

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: