Breaking News

इंजीनियर की मौत के बाद अविलंब मुआवजे की मांग को लेकर परिजनों द्वारा प्रदर्शन, किया सड़क जाम

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : अगुआनी- सुल्तानगंज निर्माणाधीन पुल में कार्यरत परबत्ता प्रखंड के कबेला निवासी इंजीनियर निलेश कुमार की मौत के बाद गुस्साए परिजनों एवं ग्रामीणों ने पुल निर्माण कंपनी एसपी सिंगला के मुख्य बेस केंप श्रीरामपुर ठुठ्ठी के समीप अगुआनी- महेशखूंट मुख्य सड़क को जाम कर दिया. आक्रोशितों ने सड़क पर शव को रखकर कंपनी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. लोगों का आरोप था कि घटना के बाद घायल के इलाज में कोताही बरती गई और सुल्तानगंज से रेफर करने का स्लिप परिजनों को अबतक नहीं दिया गया है. परिजन कंपनी के अधिकारियों के बातों पर भरोसा नहीं होने की बातें कह रहे थे. साथ ही मुआवजे का भुगतान अविलंब करने की मांग की जा रही थी.

आक्रोशितों को स्थानीय पुलिस प्रशासन के द्वारा समझाने का प्रयास जारी था. खबर प्रेषण तक प्रदर्शन स्थल पर पुल निर्माण कंपनी से जुड़े कोई भी बड़े पदाधिकारी नहीं पहुंचे थे. वहीं अंचलाधिकारी अंशु प्रसुन मौके पर मौजूद थे और उनके द्वारा भी मृतक के परिजन को समझाने प्रयास जारी था.

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को आई तेज आंधी के दौरान अगुआनी-सुल्तानगंज पुल के पिलर संख्या 10 के समीप कार्य कर रहे निलेश कुमार जख्मी हो गए थे और इलाज को लेकर सुल्तानगंज से भागलपुर ले जाने के क्रम में उनकी मौत हो गई थी. हलांकि घटना के बाद एसपी सिंगला के प्रोजेक्ट डायरेक्टर आलोक कुमार झा ने मृतक के परिजन को कंपनी के नियमानुसार मुआवजा देने और एक आश्रित को परमानेंट नौकरी देने की बातें कही थी. लेकिन मृतक के परिजन अविलंब मुआवजे की राशि देने पर अड़े हुए थे.

Check Also

एक झपकी लगी और उजड़ गई दुनिया, किसी घर का बुझा चिराग तो किसी का उजड़ा सुहाग

एक झपकी लगी और उजड़ गई दुनिया, किसी घर का बुझा चिराग तो किसी का उजड़ा सुहाग

error: Content is protected !!