Breaking News

मांगों को लेकर सेविका और सहायिका उतरीं सड़क पर,हड़ताल जारी…




लाइव खगड़िया (मनोज कुमार पटेल) : विभिन्न मांग को लेकर बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन का हड़ताल बुधवार को भी जारी है.उधर मंगलवार को ज़िले के विभिन्न प्रखंडों से सेविकाओं और सहायिकाओं का हुजूम सड़कों पर उमड़ पड़ा.इस क्रम में आंगनबाड़ी कर्मियों का जत्था शहर के बलुआही चौंक के एन एच 31 पर चौकड़ी मारकर बैठ अपनी मांगों के समर्थन व सरकार के विरोध में जमकर नारे लगाये.इस दौरान वहां जाम की स्थिति बन गई और सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गई.जाम की जानकारी मिलते ही सदर बीडीओ के नेतृत्व में प्रशासनिक महकमा जाम स्थल पर पहुंचे और आंदोलनकारियों को समझा बुझा कर राष्ट्रीय उच्च मार्ग को जाम से मुक्त कराया गया.

जिसके उपरांत आंदोलनकारी शहर के विभिन्न मार्गों का भ्रमण करते हुए समाहरणालय के समीप पहुंचे और समाहरणालय के दोनों मुख्य द्वार को जाम कर दिया.उल्लेखनीय है कि पन्द्रह सूत्री मांगों को लेकर सेविका और सहायिकाओं का हड़ताल विगत 5 दिसंबर से जारी है.

मांगों में जून 2016 से बकाया सेविका सहायिका का मानदेय राशि का भुगतान एकमुश्त करने, राज्य अंश का 2 महीने का अतिशीघ्र भुगतान,सेविका सहायिका के पोशाक राशि का भुगतान,आंगनवाड़ी केंद्र के बाल वाड़ी के 40 बच्चों के पोशाक राशि 250 रु प्रति बच्चा की जगह 400 की दर से भुगतान ,फ्लेक्सी फंड की राशि का भुगतान , केंद्र का भवन किराया 750 प्रतिमाह की दर से भुगतान, सभी केंद्रों पर एक समान टीएचआर वितरण,पोषाहार की राशि नए दर से उपलब्ध करवाने ,ई सी सी ट्रेनिंग का यात्रा भत्ता का भुगतान ,आंगनवाड़ी सेविका सहायिकाओं को सरकारी कर्मचारी का दर्जा देते हुए सेविका को तृतीय वर्गीय एवं सहायिका को चतुर्थ वर्गीयकर्मचारी के रूप में समायोजित करने जैसी मांगें शुमार है.

जबकि अन्य मांगों में सरकारी कर्मी का दर्जा नहीं मिलता सेविका को ₹18000 एवं सहायिका को ₹12000 मानदेय देने,मिनी केंद्र की सेविका को भी समान सेविका के मानदेय राशि देने ,54 दिनों के हड़ताल के पश्चात 16 मई 2017 को हुए समझौता के आलोक में लंबित मांगों का निष्पादन ,हड़ताल अवधि का मानदेय ना काटकर अवकाश के दिन में कार्य करा कर समायोजन करने,गोवा और तेलंगाना के भांति बिहार सरकार द्वारा भी सेविका को 7000र रूपये एवं सहायिका को 4500 रूपये  प्रोत्साहन राशि , सेविका एवं सहायिकाओं को सेविका के पद पर शत प्रतिशत पदों पर पदोन्नति ,उम्र सीमा समाप्त करने,सेवानिवृत्ति के पश्चात 5000 मासिक पेंशन या एक मुश्त पांच लाख सहायता राशि बीमा का लाभ सुनिश्चित करने,आंगनवाड़ी सेविका सहायिका चयन की प्रक्रिया पारदर्शी बनाने, 4 घंटा से अधिक काम लेने के लिए मजबूर करने की बजाय काम का समय 8 घंटा निर्धारित करने,समान काम के लिए समान वेतन प्रणाली लागू किया करने जैसी मांगें शामिल है.

मौके पर संघ की जिलाध्यक्ष प्रेमलता मिश्रा, जिला महासचिव सह राज्य सचिव कुमारी निर्मला ,जिला उपाध्यक्ष वीणा यादव ,उर्मिला कुमारी, बिंदु देवी, सेविका सोनी देवी, कुमारी कमला , नूतन कुमारी ,शीला कुमारी ,आशा कुमारी, सुधा कुमारी, रेनू कुमारी, मीरा कुमारी,प्रखण्ड संरक्षक  प्रदीप मिश्रा ,फूल मिश्रा, कैलाश साह, उत्तम साह सहित बड़ी संख्या में सेविका और सहायिका मौजूद थी

Check Also

जदयू कार्यकर्ताओं ने निकाला सतर्कता एवं जागरूकता मार्च

जदयू कार्यकर्ताओं ने निकाला सतर्कता एवं जागरूकता मार्च

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: