Breaking News

CPI ने वामपंथी,जनतांत्रिक व धर्मनिरपेक्ष दलों के एकजुटता पर दिया बल

लाइव खगड़िया : भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के खगड़िया,समस्तीपुर,सहरसा,मधेपुरा एवं सुपौल जिले के अल्पसंख्यक कार्यकर्ताओं की बैठक पार्टी के योगेंद्र भवन स्थित जिला कार्यालय में आयोजित की गई.जिसकी अध्यक्षता अली खान ने किया.मौके पर मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित सीपीआई के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद लगातार अल्पसंख्यक पर हमले हो रहे हैं.भीड़ हिंसा के जरिए उनकी हत्या की जा रही है तथा उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है.इनके राजकाज में महंगाई चरम पर है.भ्रष्टाचार का नीचे से लेकर ऊपर तक बोलबाला है.काला धन विदेशी बैंकों से वापस लाकर गरीबों के खातों में 15 लाख  देने का वादा जुमला साबित हुआ है. सांप्रदायिकता की नीति को अपनाकर मोदी पुनः 2019 में सत्ता पर काबिज होना चाह रहे हैं.आवश्यकता इस बात की है कि सभी वामपंथी,जनतांत्रिक एवं धर्मनिरपेक्ष शक्ति एकजुट होकर मोदी को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएं.साथ ही उन्होंने कहा इसके मद्देनजर सीपीआई बिहार राज्य परिषद ने 25 अक्टूबर को पटना के गांधी मैदान में एक विशाल रैली करने का निर्णय लिया है.वहीं उन्होंने कार्यकर्ताओं से रैली में बड़ी संख्या में भाग लेने का आह्वान किया.जबकि सीबीआई बिहार राज्य परिषद सदस्य मसूद मंजर ने अपने संबोधन में कहा कि आजादी के 72 वर्षों के बाद भी अल्पसंख्यक आर्थिक,शैक्षणिक एवं सामाजिक रुप से अत्यंत पिछड़े हुए हैं.मोदी सरकार के बनने के बाद से अल्पसंख्यकों पर और भी अत्याचार हो रहा है और वामपंथी दल ही अल्पसंख्यकों के हक और हकूक की लड़ाई को आगे बढ़ा रहा है.साथ ही उन्होंने अल्पसंख्यक कार्यकर्ताओं से सीपीआई के तरफ मुखातिब होने की अपील किया.बैठक को ऑल इंडिया तंजीम इंसाफ के राज्य सचिव मो.याहिया, सीपीआई के राज्य कार्यकारिणी सदस्य प्रभाशंकर सिंह, सीपीआई के जिला सचिव प्रभाकर प्रसाद सिंह,पुनीत मुखिया आदि ने भी संबोधित किया.

Check Also

जदयू कार्यकर्ताओं ने निकाला सतर्कता एवं जागरूकता मार्च

जदयू कार्यकर्ताओं ने निकाला सतर्कता एवं जागरूकता मार्च

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: