Breaking News

शहीद चंदन मिश्र का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन, 8 वर्षीय बेटे ने दी मुखाग्नि

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : सिक्किम में सड़क हादसे में शहीद हुए नयाब सूबेदार चंदन कुमार मिश्र का पार्थिव शरीर सड़क मार्ग से शनिवार की देर रात खगड़िया की सीमा में प्रवेश करते ही सतीशनगर में गोगरी एसडीओ अमन कुमार सुमन, डीएसपी मनोज कुमार, सीओ रंजन कुमार सहित अन्य पदाधिकारियों ने उसे सम्मान पूर्वक गोगरी लाया. जहां से रविवार की सुबह शहीद के पार्थिव शरीर को प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में उनके पैतृक गांव नयागांव पंचखुट्टी लाया गया. तिरंगे में लिपटा शहीद का पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव पहुंचते ही ‘चंदन अमर रहे’ व ‘भारत माता की जय’ जैसे नारे गूंजने लगे. वहीं शहीद को श्रद्धांजलि देने के लिए बड़ी संख्या में युवा, युवतियां, बुजुर्ग व महिलाएं मौजूद थे.

शहीद का पार्थिव शरीर घर पहुंचते ही माता-पिता अपने बेटे के पार्थिव शरीर पर लिपट कर रोने लगे. वहीं शहीद की पत्नी एवं मां की चित्कार से लोगों की आंखें भी नम हो उठी. नयागांव पंचखुट्टी से शहीद की अंतिम यात्रा अगुआनी गंगा घाट के लिए निकला. 13 किलोमीटर की अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में शामिल थे और इस दौरान विभिन्न जगहों पर लोगों ने फूलों की बारिश की. बताया जाता है कि संभावित रास्तों पर लोग सुबह से ही मां के सपूत के इंतजार में पलके बिछाए खड़े थे. वहीं देश भक्ति गीत से माहौल गमगीन बना रहा.

इसके पूर्व कड़ाके की ठंड एवं शीतलहर के बीच युवाओं ने शनिवार की देर रात विभिन्न जगहों पर केसरिया रंग से तोरण द्वार का निर्माण किया. जहां तिरंगा झंडा लगाया गया था. साथ ही सड़क पर रंगोलियां बनाई गई थी. शहीद का पार्थिव शरीर जब महेशखूंट -अगुआनी पथ से काफिला के साथ गुजर रहा था तो स्कूली छात्र-छात्रा ने हाथों में तिरंगा लहराते हुए उन्हें सलामी दी. जबकि उच्चतर माध्यमिक मकतब इस्लामपुर परबत्ता के छात्र- छात्राओं ने मड़ैया के पास सड़क के किनारे हाथों में तिरंगा लिए शहीद के प्रति सम्मान व्यक्त किया.

राजकीय एवं सैन्य सम्मान के साथ किया गया अंतिम संस्कार

रविवार को अगुआनी गंगा घाट पर शहीद नायब सूबेदार चंदन कुमार मिश्र के पार्थिव शरीर का राजकीय एवं सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. वहीं मुजफ्फरपुर आर्मी कैंप से आये थल सेना के कर्नल वर्धन के नेतृत्व में दर्जन भर सेना के जवान एवं खगड़िया के मेजर इंस्पेक्टर शरद कुमार के नेतृत्व में बिहार पुलिस बल के जवानों ने शहीद नायब सूबेदार चंदन कुमार मिश्र को गार्ड ऑफ ऑनर दिया. साथ ही उपस्थित लोगों ने पुष्प अर्पित कर शहीद को श्रद्धांजलि दी. इस दौरान शोक संगीत बजाया गया और ‘चंदन अमर रहे’ के नारे से क्षेत्र गुंजायमान हो उठा.

शहीद के 8 वर्षीय पुत्र मयंक ने अपने पिता कं मुखाग्नि दिया और इसके साथ ही शहीद चंदन कुमार मिश्र का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन हो गया. मौके एमएलसी राजीव कुमार , जिलाधिकारी डॉ आलोक रंजन घोष , एसडीओ अमन कुमार सुमन, डीएसपी मनोज कुमार, बीडीओ अखिलेश कुमार, मुखिया संघ के अध्यक्ष बालकृष्ण शर्मा उर्फ ललन शर्मा, स्मृति कुमारी, रामविनय कुंवर, आशुतोष कुमार उर्फ बंटू सिंह, पूर्व मुखिया साहेब कुमार, मुखिया प्रतिनिधि उमेश कुमार सिंह, पूर्व जिला परिषद उपाध्यक्ष ग्यासुद्दीन, मिथलेश कुमार, लालरतन, साकेत कुमार, मणिभूषण , ललन चौधरी, पंकज कुमार, विजो चौधरी, अमरजीत, शुभम, सोनू आनंद, गौतम कुमार, कांग्रेस नेता प्रशांत मिश्रा, माले नेता अरुण दास सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे. भीड़ को देखते हुए अगुआनी गंगा घाट पर एसडीआरएफ की टीम तैनात किया गया था.

पुत्र मयंक को सौंपा गया तिरंगा झंडा

अगुआनी गंगा घाट पर शहीद के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार से पहले तिरंगा झंडा उनके पुत्र मयंक को सेना के अधिकारी ने सौपा. इस दौरान उपस्थित शहीद के भाई हिमांशु कुमार मिश्र उर्फ गौतम तथा उनके परिजनों की आंखें नम हो गई. इस बीच ‘भारत माता की जय’, ‘जब तक सूरज चांद रहेगा चंदन तेरा नाम रहेगा’ के नारे से अगुआनी गंगा तट पर गूंजता रहा.

डीएम ने शहीद की पत्नी को सौंपा 11 लाख का चेक

शहीद नायब सूबेदार चंदन कुमार मिश्रा के घर जिलाधिकारी आलोक रंजन भी पहुंचे और शहीद के माता-पिता, पत्नी एवं परिजनों को सांत्वना दी. साथ ही उन्होंने बिहार सरकार की ओर से मृतक अनुग्रह अनुदान के रूप में 11 लाख रुपए का चेक शहीद की पत्नी डॉली देवी मिश्रा को सौंपा.

एमएलसी निधि से लगाई जायेगी शहीद की प्रतिमा

परबत्ता विधायक डॉ संजीव कुमार ने सिक्किम में हुए सड़क दुर्घटना में सेना के जवान जेसीओ चंदन कुमार मिश्रा की शहादत पर कहा है कि घटना हृदयविदारक था और यह हम सभी के लिए एक अपूरणीय क्षति हैं. साथ ही उन्होंने कहा है कि राज्य से बाहर होने की वजह से वे शहीद की अंतिम यात्रा में शामिल नही हो पाये. लेकिन उनकी संवेदनाएं शोकाकुल परिजनों के साथ है. उन्होंने ईश्वर से शहीद के आत्मा की और उनके परिजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना की है.

इधर एमएलसी राजीव कुमार शहीद के पैतृक गांव पहुंचकर उनके पार्थिव शरीर पर श्रद्धांजलि अर्पित किया. उन्होंने भगवान से शहीद की आत्मा को शांति के लिए प्रार्थना किया. उन्होंने बताया है कि शहीद चंदन कुमार मिश्रा की प्रतिमा एमएलसी निधि से जल्द ही लगाई जायेगी.

Check Also

दिल्ली नगर निगम के पार्षद पहुंचे अपने पैतृक गांव, किया गया भव्य स्वागत

दिल्ली नगर निगम के पार्षद पहुंचे अपने पैतृक गांव, किया गया भव्य स्वागत

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: