Breaking News

वेंटिलेटर हस्तांतरण पर रोक लगाने की मांग, युवाओं ने सीएम को भेजा आवेदन




लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : राज्य सरकार के निर्देश पर जिले के विभिन्न अस्पतालों का वेंटिलेटर जिले के बाहर के अस्पताल में भेजे जाने की खबरों के बीच परबत्ता प्रखंड के विभिन्न गांवों के युवा संयुक्त हस्ताक्षर अभियान चलाकर आवेदन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पंजीकृत डाक से भेजकर इस निर्णय को बदलने की मांग किया है. मुख्यमंत्री को प्रेषित आवेदन में कहा गया है कि विगत वर्ष कोरोना के प्रथम लहर के दौरान पुल निर्माण कम्पनी एस पी सिंगला कंस्ट्रक्शन प्राईवेट लिमिटेड के द्वारा सामाजिक दायित्व के तहत दिये गये दो वेंटिलेटरों में एक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परबत्ता तथा दूसरा सदर अस्पताल को दिया गया था. साथ ही प्रधानमंत्री केअर फंड से भी जिला स्वास्थ्य समिति को दो वेंटिलेटर प्रप्त हुआ था. 


सीएम को भेजे गए आवेदन में कहा गया है कि सरकार का यह निर्णय जिलावासियों के लिए निराशाजनक है और यहां के लोग ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं. साथ ही स्वास्थ्य विभाग से जुड़ा एक अन्य समस्या की तरफ ध्यान आकृष्ट कराते हुए बताया गया है कि लाखों रूपये की लागत से बने जिले का हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर लगभग मृतप्राय स्थिति में पहुंच चुकी है और अमूमन ताला लटका रहता है. ऐसे में महिलाओं को प्रसव के लिए सुदूर दियारा क्षेत्र से 10 से 15 किलोमीटर दूर के प्रखंड मुख्यालय स्थित अस्पताल जाना पड़ता है.

आवेदन में मांग की गई है कि इस संदर्भ में तत्काल संज्ञान लेते हुए वेंटिलेटर को हस्तांतरित करने पर रोक लगाते हुए इसे जिले के अस्पतालों में चालू करने का निर्देश जारी करने तथा जिला के सभी हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर को सुचारू रूप से चलाने की व्यवस्था की जाए. आवेदन पर सौरभ कुमार, गौरव कुमार, अभिषेक कुमार, गोलू कुमार, नवीन कुमार, सीटू कुमार, रितेश कुमार, मधुकर कुमार, ललन कुमार यादव, पिंकू कुमार ठाकुर, रविंद्र तिवारी समेत दर्जनों लोगों का हस्ताक्षर है.

Check Also

इंटर रिजल्ट : साइंस के श्याम व कामर्स के राजवीर बने जिला टापर

इंटर रिजल्ट : साइंस के श्याम व कामर्स के राजवीर बने जिला टापर

error: Content is protected !!