Breaking News

मांगों को लेकर सीपीआई का रोषपूर्ण प्रदर्शन,सरकार पर जमकर साधा निशाना

लाइव खगड़िया : सीपीआई जिला परिषद के द्वारा जनता के विभिन्न सवालों को लेकर समाहरणालय के समीप बुधवार को प्रदर्शन किया गया.इसके पूर्व पार्टी का जुलूस जेएनकेटी मैदान से निकलकर महात्मा गांधी मार्ग, राजेंद्र चौक, खगरिया फ्लाईओवर एवं कचहरी रोड होते हुए समाहरणालय के पास पहुंचा.जहां वो एक जनसभा में तब्दील हो गया.जिसकी अध्यक्षता सीपीआई के सहायक जिला सचिव रविंद्र यादव ने किया.मौके पर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के बिहार राज्य सचिव सह पूर्व विधायक सत्यनारायण सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि देश की केंद्रीय सत्ता पर काबिज घोर दक्षिणपंथी,प्रतिक्रियावादी सांप्रदायिक सोच सोच वाली पूंजीवादी दल देश को दक्षिणपंथ की ओर मोड़ने की पुरजोर कोशिश कर रही है.केन्द्र की सरकार पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान किए गए चुनावी वादे को पूरा नहीं कर सकी है.ना तो विदेशों से काला धन आया ना ही जनधन खाताधारी के खाते में 15 -15 लाख रुपया ही आई.साथ ही ना बेरोजगारी घटी और ना ही महंगाई ही कम हो पाई है.आज भ्रष्टाचार सिर पर चढ़कर बोल रहा है.देश में निरंकुश शासन व्यवस्था की स्थिति बन रही है.वहीं गौरक्षा के नाम पर अल्पसंख्यक एवं दलित पर हमला किया जा रहा है. देश के विश्वविद्यालयों को बर्बाद किया जा रहा है और छात्र सड़को पर है.सरकार शिक्षा के निजीकरण का रास्ता साफ कर रही है.जिस विश्वविद्यालय का कोई अता-पता नहीं उस रिलायंस फाउंडेशन की काल्पनिक जियो विश्वविद्यालय को देश के उत्कृष्ट विश्वविद्यालयों की सूची में शामिल करना देश के छात्रों के साथ भद्दा मजाक है.साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार में भी कानून व्यवस्था की स्थिति अच्छी नहीं है. हत्या,बलात्कार,डकैती राहजनी,दलित एवं महिला उत्पीड़न जैसे जघन्य अपराध को बेखौफ अपराधी अंजाम दे रहे हैं.लेकिन बिहार सरकार की पुलिस इसे रोकने में नाकाम साबित हो रही है.बिहार सरकार भूमि सुधार कानून को लागू करने में भी असफल रही है.ऐसे में हजारों लोग रेलवे लाइन सड़क एवं बांध पर बसे हुए हैं.जबकि बिहार सरकार किसानों की गेहूं भी खरीद नहीं सकी है.सभा को संबोधित करते हुए सीपीआई के जिला मंत्री प्रभाकर प्रसाद सिंह ने कहा कि जिले में मकई एवं केला पर आधारित उद्योग लगाने की जरूरत है.नदी कटाव से विस्थापित गांव बलकुंडा,लालपुर तिरासी,हरदिया, उतरी बहोरबा को पुनर्वासित करने की जरूरत है.साथ ही उनके द्वारा बरसों से बसे भूमिहीनों को पर्चा एवं बेदखल पर्चा धारियों को दखल दिलाने की मांग रखी गई.वहीं पार्टी के सहायक जिला मंत्री पुनीत मुखिया ने कहा कि पंचायत से लेकर जिला तक भ्रष्टाचार का बोलबाला है.इंदिरा आवास में 20 से 25 हजार घूस लिया जाता है.मौके पर बिहार राज्य कार्यकारिणी सदस्य प्रभाशंकर सिंह, एआईएसएफ के जिलाध्यक्ष अभिषेक विद्रोही,सह सचिव केशव कुमार,अंचल मंत्री मनोज सदा, कैलाश पासवान, अनिल कुमार सिंह, गणेश शर्मा,अशोक सिंह, जिला कार्यकारिणी सदस्य रोहित सदा, बिंदेश्वरी साह, कृष्ण कुमार शर्मा, सुंदरवती देवी,पृथ्वी चंद्र तंती, विशुनदेव शर्मा आदि मौजूद थो.

यह भी पढें : चोरी की चार बाइक के साथ झपटमार गिरोह कोढा का आधा दर्जन सदस्य धराया

Check Also

इमरजेंसी में 112 नंबर डायल करते ही तुरंत पहुंच जायेगी रेस्पांस टीम

इमरजेंसी में 112 नंबर डायल करते ही तुरंत पहुंच जायेगी रेस्पांस टीम

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: