Breaking News

दूर होगी कोविड जांच और रिपोर्ट लेने में होने वाली लोगों की परेशानी




लाइव खगड़िया : जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष की अध्यक्षता में सोमवार को समाहरणालय स्थित सभागार कक्ष में स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों की एक बैठक का आयोजन किया गया. मौके पर जिलाधिकारी के द्वारा कोविड जांच सेंटर में बुनियादी सुविधाओं को बढ़ाने तथा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रचार-प्रसार को तेज करने के निर्देश दिया गया. वहीं डीएम ने सिविल सर्जन को जांच के लिए आने वाले लोगो के लिए पंजीकरण का एक निश्चित समय का निर्धारण तथा जिन्हें तत्काल जांच की आवश्यकता है उनके लिए 24 घंटे के अंदर सैंपलिंग लेने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया. साथ ही डीएम ने सदर अस्पताल में “MAY I HELP U” की सुविधा प्रारंभ करने का निर्देश दिए. 

बैठक के दौरान बताया गया कि जिले में कुल 231 सैंपलिंग की गई. जिसमें सदर प्रखंड में  89, मानसी में 16, अलौली में 5,  बेलदौर में 25 , चौथम में 24 गोगरी में 31, परबत्ता में 25 तथा सदर हॉस्पिटल में 16 लोगो की सैंपलिंग की गई. वहीं बताया गया कि अगले दिन तक संबंधित व्यक्तियों को उनकी रिपोर्ट उपलब्ध करा दी जायेगी.

गौरतलब है कि जिले में रैपिड एंटीजन किट से जांच की जा रही है. जिसकी रिपोर्ट तुरंत आ जाती है. मौके पर पॉजिटिव पाये गये व्यक्तियों को चिन्हीकरण कर तथा उनकी स्थिती को देखते हुए या तो उन्हें होम आइसोलेशन या कोविड केअर सेंटर में भेजने का निर्देश दिया गया. ताकि संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके. वहीं कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, कंटेंटमेंट जोन , मेडिकल किट के वितरण को लेकर भी आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया.

बैठक में सिविल सर्जन अजय कुमार सिंह, उपविकास आयुक्त राम निरंजन सिंह, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी भूपेंद्र यादव, सदर अनुमंडल पदाधिकारी धर्मेंद्र कुमार सहित स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारी उपस्थित थे. 

दूसरी तरफ जिलाधिकारी के द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्थित कोविड जांच केंद्र  तथा जीएनएम स्कूल स्थित आइसोलेशन सेंटर का भी निरीक्षण किया गया. इस दौरान डीएम ने जांच में पॉजिटिव आये व्यक्तियों को एक ही स्थान पर सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के निदेश दिया. साथ ही जांच के दौरान लोगो के बीच सामाजिक दूरी रखने, लोगो के डेटा संग्रहण को सुदृढ़ करने, सभी लोगो को टेस्टिंग के दौरान बुनियादी सुविधाएं देने, मेडिकल किट उपलब्ध कराने सहित कई अन्य आवश्यक निदेश दिया गया. इस क्रम में आइसोलेशन सेंटर में 100 ऑक्सिजन सिलेंडर की हमेशा व्यवस्था रखने, इलाजरत लोंगो के लिए बुनियादी सुविधाओं को सुदृढ़ करने जैसे कई निर्देश डीएम के द्वारा दिया गया. जबकि दोनों ही सेंटरों की अव्यवस्था पर डीएम ने अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए 24 घण्टे में सभी व्यवस्था को सुदृढ करने के आदेश दिया. साथ ही किसी व्यक्ति द्वारा अपना टेस्ट रिजल्ट मांगे जाने पर उसे रिपोर्ट का प्रति देने का निर्देश दिया.
OFFEROFFEROFFEROFFEROFFER

Check Also

इंटर रिजल्ट : साइंस के श्याम व कामर्स के राजवीर बने जिला टापर

इंटर रिजल्ट : साइंस के श्याम व कामर्स के राजवीर बने जिला टापर

error: Content is protected !!