Breaking News

झुग्गी झोपड़ी में अलख जला संजीव कर गये मॉडलिंग की चकाचौंध फीकी,सम्मानित




लाइव खगड़िया : 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गुरुवार की शाम जिले के टाउन हॉल में आयोजित एक कार्यक्रम में सामाजिक कार्यों में उत्कृष्ट सेवाएं देने वाले विशिष्ट लोगों को सम्मानित किया गया. इस कड़ी में समाज से छुआछूत उन्मूलन करने की दिशा में अपना सबकुछ न्योछावर कर देने वाले सामाजिक कार्यकर्ता संजीव कुमार भी जिलाधिकारी अनिरूद्ध कुमार के द्वारा सम्मानित किये गये. मौके पर उन्हें प्रशस्ति पत्र एवं अंग वस्त्र भेंट किया गया.

उल्लेखनीय है कि मॉडलिंग की चमचमाती दुनिया को अलविदा कहकर संजीव ने उस राह को चुना था जिस राह पर अमूमन लोग चलना तो दूर सोचना भी मुनासिब नहीं समझते हैं. चकाचौंध भरी कैरियर को छोड़कर झुग्गी-झोपड़ी में समय बिताने का फैसला वैसे भी आसान नहीं था. खुद की कैरियर को दांव पर लगाकर समाज के एक पिछड़े समुदाय के उत्थान के लिए खुद के बल पर कार्य करने का निर्णय कठिन जरूर था. लेकिन संजीव ने अपनी जुनून व जज्बे से इस क्षेत्र में वो रोशनी फैला गये हैं जहां मॉडलिंग की चमक फीकी प्रतित होने लगी है.




शायद यही कारण रहा था कि उन्हें बॉलीवुड स्टार आमिर खान की चर्चित शो ‘सत्यमेव जयते’ में भी प्रतिभागी बनने का गौरव प्राप्त हुआ.

‘सत्यमेव जयते’ का सीन

गौरतलब है कि संजीव विगत दस वर्षों से डोम समुदाय के उत्थान के लिए कार्य कर रहे हैं और समाज के छुआछूत प्रथा के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं. इस क्रम में उनका अधिकांश समय इन्हीं समुदाय को जागरूक करने में व्यतीत होता है. साथ ही समय-समय पर विभिन्न तरह के कार्यक्रमों व सभाओं के द्वारा भी वो अपनी मुहिम को गति प्रदान करते रहे हैं.



Check Also

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: