Breaking News

क्राइम मीटिंग में थानेदारों को एसपी की फटकार,मिला टास्क,वक्त भी निर्धारित

खगड़िया : पुलिस अधीक्षक मीनू कुमारी की अध्यक्षता में शनिवार को उनके कार्यकाल कक्ष में बीते माह मई का अपराध गोष्ठी का आयोजन किया गया.इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक (अभियान) राज कुमार राज एवं सदर व गोगरी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सहित जिले के सभी थानाध्यक्ष मौजूद थे.मौके पर पुलिस अधीक्षक के द्वारा अप्रैल माह के अपराध गोष्ठी के दौरान थानाध्यक्षों को कांड निष्पादन हेतु दिये गये प्रतिवेदित कांड से दोगुणा निष्पादन का लक्ष्य निर्धारित किया गया.वहीं समीक्षा के दौरान पाया गया कि पसराहा थानाध्यक्ष को छोड़कर जिले के अन्य सभी थानाध्यक्ष बीते माह के निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने में असफल रहे हैं.जिस पर पुलिस कप्तान ने नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी थानाध्यक्षों को दो दिनों का अतिरिक्त समय देते हुए आदेश दिया कि तय वक्त में वो अपने लक्ष्य को प्राप्त करें.वहीं ऐसा नहीं करने पर संबंधित थानाध्यक्ष के विरूद्ध अनुशासनिक कार्रवाई किये जाने की बातें कही गई.

समीक्षा के दौरान यह भी पाया गया कि जिन कांडों में अनुसंधानकर्ता को वरीय पदाधिकारियों द्वारा आदेश प्राप्त होता है उन कांडों में भी उनके द्वारा अंतिम प्रपत्र न्यायालय में विलंब से समर्पित किया जा रहा है.मामले में सभी थानाध्यक्षों को वैसे अनुसंधानकर्ता से अंतिम प्रपत्र दो दिनों के अंदर न्यायालय में समर्पित कराने का निर्देश दिया गया.साथ ही पुलिस कप्तान के द्वारा स्पष्ट रूप से कहा गया कि जो अनुसंधानकर्ता इस आदेश को गंभीरता से नहीं लेते हैं उनके विरूद्ध थानाध्यक्ष अनुशासनिक कार्रवाई करने हेतु प्रतिवेदन समर्पित करें.

मौके पर हत्या,लूट,डकैती,अपहरण, रंगदारी से संबंधित कांडों के वांछित अभियुक्तों के विरूद्ध चलाये गये विशेष अभियान के बाबजूद कुछ थानाध्यक्षों को आशा के अनुरूप सफलता नहीं मिलने पर भी पुलिस अधीक्षक ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यालय के निर्देश के बाबजूद अपराध के मुख्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं होना घोर लापरवाही को दर्शाता है.यदि 10 दिनों के अंदर अपराध के मुख्य शीर्ष वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं की जाती है तो संबंधित थानाध्यक्ष के विरूद्ध अनुशासनिक कार्रवाई करते हुए पुलिस मुख्यालय को प्रतिवेदन समर्पित कर दिया जायेगा.वहीं पुलिस अधीक्षक ने लूट,डकैती एवं गृहभेदन के कांडों में वृद्धि को गंभीरता से लेते हुए स्पष्ट रूप से कह दिया कि जिन थाना क्षेत्र में घटना घटित हुई है निश्चय रूप से उस थाना क्षेत्र में गश्ती व चेकिंग को सही ढंग से अंजाम नहीं दिया गया होगा.वहीं उन्होंने अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस निरीक्षक को निर्देश दिया कि संबंधित थाना क्षेत्र में भ्रमण कर गश्ती व चेकिंग का औचक निरीक्षण करें और यदि लापरवाही सामने आती है तो संबंधित पदाधिकारी के विरूद्ध कार्रवाई करने हेतु प्रतिवेदन समर्पित करें.मौके पर मुफस्सिल एवं अलौली थानाध्यक्ष को क्षेत्र में घटित लूट एवं डकैती की घटना का उद्भेदन करने का लक्ष्य दिया गया.साथ ही गंगौर थानाध्यक्ष को क्षेत्र में घटित लूट की घटना के शेष बचे अभियुक्तों की गिरफ्तारी 10 दिनों के अंदर करते हुए संबंधित कांड का अनुसंधान पूरा कर आरोप पत्र समर्पित करने का निर्देश दिया गया.वहीं बैंक से रूपया निकाल कर घर जाने के क्रम में उच्चकों द्वारा लोंगो के रूपये छिनतई की घटना की समीक्षा के क्रम में पाया गया कि प्राय: घटना को कोढा गिरोह द्वारा अंजाम दिया जा रहा है.मौके पर ही एसपी द्वारा निर्देश दिया गया कि जिन थाना क्षेत्रों में ऐसी घटना घटित हुई है संबंधित थानाध्यक्ष टीम गठित कर कटिहार के कोढा जाकर कार्रवाई सुनिश्चित करें.

Check Also

सार्वजनिक पुस्तकालय का शिलान्यास

सार्वजनिक पुस्तकालय का शिलान्यास

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: