Breaking News

शहीदों के आत्मा की शांति के लिए सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन




लाइव खगड़िया : जमीयत उलमा-ए-हिंद के द्वारा पुलवामा के शहीद जवानों की आत्मा के शांति के लिए रविवार को शहर के श्यामलाल राष्ट्रीय उच्च विद्यालय के प्रांगण में सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया और दो मिनट का मौन रखा गया.जिसमें तमाम धर्मों के रहनुमा एवं बुजुर्ग  व नौजवान बड़ी संख्या में शामिल हुए.कार्यक्रम की अध्यक्षता जमित उलमा-ए-हिंद के जिलाध्यक्ष अल्हाज सैयद खालिद नजमी एवं मंच संचालन जिला महासचिव कारी मो.सरफराज आलम ने किया.जबकि व्यस्थापक की जिम्मेदारी जिला सचिव अमज़द नज़ीर ने निभाई।मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर पूर्व नगर सभापति सह जाप किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष मनोहर कुमार यादव सहित नगर पार्षद दीपक चंद्रवंशी ,पूर्व नगर पार्षद रुस्तम अली, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष आसिफ नज़ीर, युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष चंदन सिंह एवं हिंदू धर्म गुरु पंडित शशिचंद्र झा, सिख धर्म के मणित सिंह, ईसाई धर्म के जैंशन के. ए.,मुस्लिम धर्म से कारी मो.बुरहान उद्दीन आदि ने अपने-अपने धर्म के अनुसार शहीदों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना किया.

वहीं मनोहर कुमार यादव ने जमित उलमा-ए-हिन्द की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि इस तरह का आयोजन नफरत फैलाने वालों पर एक करारा जवाब है और साथ ही यह एकता का पैगाम भी देता है.जबकि दीपक चंद्रवंशी ने कहा कि देश की सुरक्षा में कहीं न कहीं चूक हुई है  और जवानों की शहादत से सरकार सीख लेनी चाहिए.वहीं अमज़द नज़ीर ने कहा कि हिंदुस्तान एक बाग की तरह है और यहां का हर एक फूल खिला रहना चाहिए.वीर सैनिक न हिन्दू,मुस्लिम, सीख या ईसाई नहीं बल्कि भारत मां के लाल हैं.जिसपर तमाम भारतवासियों को नाज़ है.




मौके पर कारी मो. सरफराज आलम ने कहा कि अपने वतन से मोहब्बत करना इस्लाम में इमान की पहचान है और पूरा हिंदुस्तान एक परिवार है.वहीं जिलाध्यक्ष अल्हाज सैयद खालिद नजमी ने प्रार्थना सभा के अंत में जमियत उलमा-ए-हिन्द का परिचय देता हुए कहा कि जमियत का हर एक सदस्य इस दुख की घड़ी में शहीदों के गमजदा परिवार के साथ खड़ा है और आज हिंदुस्तान का हर आदमी इस घटना से मर्माहत है.हिंदुस्तान के जावाज सैनिकों की वजह से हिंदुस्तान की जनता चैन की सांस ले रहे हैं.साथ ही जमीयत के वरीय सदस्य मास्टर अब्दुल गनी, जिला सचिव मास्टर मंसूर आलम सहित कई अन्य वक्ताओं ने दु:ख का इजहार करते हुए शहीदों के प्रति श्रद्धांजलि दिमा.

मौके पर मौलाना अबुल हसन, मास्टर अब्दुल वाजिद, अरविंद कुमार उर्फ डब्लू, हाफिज मुबीन, राजीव कुमार, अशोक कुमार, नौशाद आलम, जमीद अख्तर, राकेश लहेरी, सोनू कुमार, शमशाद अख्तर, मो.वसीम उद्दीन, चंदन कुमार नवीन,आमिर खान, विक्की आर्य, मो.शरीफ, मो.जावेद अली, हाफिज रईश, मो. अताउल्लाह , मो०आदिल, मो. इम्तियाज, मो. चांद हबीब आदि  उपस्थित थे.


Check Also

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: