Breaking News

…तो अपराधियों के निशाने पर थे पसराहा थानाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह

लाइव खगड़िया : जिले के पसराहा थानाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह हत्याकांड में एक बड़ा खुलासा सामने आया है.खगड़िया-नवगछिया पुलिस जिला के सीमावर्ती दियारा क्षेत्र में बीते दिनों अपराधियों के साथ मुठभेड़ के दौरान कर्तव्य पथ पर शहीद हुए थानेदार आशीष कुमार सिंह दियारा का आंतक दिनेश मुनि गिरोह के निशाने पर थे.इस बात का खुलासा दिनेश मुनि का दाहिना हाथ माना जाने वाला कोसी का आतंक कुख्यात अपराधी पंकज मुनि की गिरफ़्तारी के बाद पुलिस द्वारा बरामद किये गये उनके मोबाइल से हुआ है.

उल्लेखनीय है की पंकज मुनि की गिरफ़्तारी बुधवार की देर शाम मधेपुरा पुलिस के द्वारा पूर्णिया-मधेपुरा सीमावर्ती क्षेत्र से की गई थी.मौके से पुलिस ने एक देशी कट्टा,6 जिन्दा कारतूस,2 मोबाइल,चोरी की एक बाइक सहित नगदी भी बरामद किया था.पुलिस के अनुसार गिरफ्तार अपराधी की संलिप्तता जिले के पसराहा थानाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह हत्याकांड में रही है.साथ ही इनके निशाने पर जिले के पसराहा थानाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह सहित मधेपुरा जिले के चौसा के एक पूर्व थानाध्यक्ष भी थे.

इस बात का खुलासा पंकज मुनि के पास से बरामद मोबाइल से हुआ है.गिरफ्तार अपराधी के मोबाइल में दोनों थानाध्यक्ष के नाम के आगे रेड क्रॉस का चिन्ह लगा पाया गया.बताया जाता है की पंकज मुनि फरार अपराधी दिनेश मुनि का रिश्तेदार है.गौरतलब है कि अपराधी दिनेश मुनि का नाम दारोगा आशीष कुमार सिंह हत्याकांड में आ रहा है.जिसकी गिरफ़्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी अभियान चला रही है.पंकज मुनि के खिलाफ भी मधेपुरा सहित नवगछिया,भागलपुर,पूर्णिया व खगड़िया जिले के थाना में संगीन मामला दर्ज होने की बातें कही जा रही है.बहरहाल दारोगा हत्याकांड में पंकज मुनि की गिरफ़्तारी पुलिस की एक बड़ी सफलता मानी जा रही है.

Check Also

हाजीपुर में रामविलास पासवान की प्रतिमा का 5 को अनावरण, बड़ी संख्या में पहुंचेंगे खगड़िया से भी कार्यकर्ता

हाजीपुर में रामविलास पासवान की प्रतिमा का 5 को अनावरण, बड़ी संख्या में पहुंचेंगे खगड़िया से भी कार्यकर्ता

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: