Breaking News

ट्रेन के विलंब से परिचालन पर आक्रोशित छात्रों ने किया स्टेशन पर हंगामा

लाइव खगड़िया : ट्रेन के बराबर विलंब से चलने से नाराज छात्रों ने शुक्रवार को खगड़िया रेलवे स्टेशन पर हंगामा खड़ा कर दिया.वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने भी ट्रेन के विलंब से परिचालन पर रेलवे प्रशासन के प्रति नाराजगी व्यक्त किया है.नाराज छात्रों की मानें तो प्रत्येक दिन सैकड़ों की संख्या में पहरजा गंगौर हाॅल्ट से छात्र सुबह 6.05 बजे गाड़ी संख्या 55566 पैसेंजर ट्रेन से खगड़िया पढ़ने को आते हैं.जबकि छात्रों को वापसी के लिए खगड़िया स्टेशन से दोपहर 12:35 बजे की गाड़ी संख्या 55567 का इंतजार रहता है.लेकिन विगत कुछ सप्ताह से यह ट्रेन अपने नियत समय से काफी विलंब से चलती है.जिससे छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है और साथ ही उनका काफी वक्त भी बर्बाद हो जा रहा है.शुक्रवार को भी लगभग ऐसी ही स्थिति बन आई.घंटों इंतजार के बाद भी जब 12.35 बजे वाली 55567 नंबर की ट्रेन 2:00 बजे तक नहीं आई और सहरसा से ना खुलने की बात कहते हुए विलंब की वास्तविक स्थिति नहीं बताई गई तो छात्रों का धैर्य टूट गया.ऐसे में छात्रों ने स्टेशन पर हंगामा शुरू कर दिया.मामले की जानकारी मिलते ही अखिल विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने इसे गंभीरता से लेते हुए स्टेशन अधीक्षक से बात की.छात्र नेताओं कि यदि मानें तो स्टेशन अधीक्षक ने मामले को अपने अधिकार क्षेत्र बाहर बताया.जबकि छात्र समस्या का समाधान करने की दिशा में कोई पहल होता नहीं देख स्टेशन अधीक्षक तथा रेलवे प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी शुरू कर दिया.हंगामा कर रहे छात्रों को विद्यार्थी परिषद के जिला संयोजक तथा वाणिज्य मंच के मंडल अध्यक्ष रिपुंजय झा ने समझा-बुझाकर मामले को शांत किया.साथ ही उन्होंने इस विषय को लेकर अधिकारियों से बात करने और जल्द ही ट्रेनों के विलंब से परिचालन में सुधार करने का आश्वासन दिया.वहीं विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने रेलवे प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि ट्रेन के विलंब से परिचालन में सुधार किया जाये अन्यथा छात्र संगठन छात्र हित के लिए उग्र आंदोलन करने को मजबूर हो जाएगी.

Check Also

इमरजेंसी में 112 नंबर डायल करते ही तुरंत पहुंच जायेगी रेस्पांस टीम

इमरजेंसी में 112 नंबर डायल करते ही तुरंत पहुंच जायेगी रेस्पांस टीम

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: