Breaking News

सुहेली मेहता ने जदयू को कहा बाय-बाय, लगा दिया ऐसे-ऐसे आरोप कि…

लाइव खगड़िया : जदयू की पूर्व प्रदेश प्रवक्ता प्रो. सुहेली मेहता ने जदयू से अपना नाता तोड़ लिया है. उन्होंने सोमवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. पार्टी छोड़ने के साथ उन्होंने जदयू पर कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं. उन्होंने कहा है कि वे नीतीश कुमार के नेतृत्व में पार्टी से जुड़कर काम करने आई थीं और पार्टी में वर्षों तक पूरी ईमानदारी से काम भी किया. लेकिन अफसोस है कि अब पार्टी में नीतीश कुमार की नहीं चलती है और पार्टी कुंठित लोगों के एक गिरोह के हाथ लग गयी है. जो कार्यकर्ताओं को शर्तों से समझौता करने को मजबूर करते हैं और महिला सशक्तिकरण की बात करने वाली पार्टी एक महिला को गिरे हुए लोगों के सामने घुटने टेकने के शर्त पर पार्टी की राजनीति करने को कहते हैं.

सुहेली मेहता ने जदयू पर आरोपों की बौछार करते हुए कहा कि जदयू सिर्फ महिलाओं पर राजनीति करती हैं, लेकिन महिलाओं को राजनीति करने नहीं देना चाहती हैं. उन्होंने कहा कि जदयू अपने मूल आधार से भटक गई है और पार्टी का लव और कुश समीकरण भी अब खत्म हो गया है.

सुहेली मेहता ने नीतीश कुमार के शराबबंदी पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि शराबबंदी जनता के साथ धोखा है. नीतीश कुमार ने महिलाओं के नाम पर बिहार में शराबबंदी लागू किया था. लेकिन हालात सुधरने से बजाय और भी बिगड़ता ही चला गया. स्थिति यह है कि माफिया डंके की चोट पर शराब की होम डिलीवरी करवा रहे हैं और गरीब शराब की खाली बोतल रखने के जुर्म में भी जेल जा रहे हैं. सुहेली मेहता ने नीतीश सरकार की नई शिक्षक नियमावली पर हमला बोलते हुए कहा कि बिहार के शिक्षकों के साथ धोखा हो रहा है.

उल्लेखनीय है कि बीते साल जदयू ने सुहेली मेहता को प्रवक्ता पद से हटा दिया था. बताया जाता है कि जिसके बाद से वे नाराज चल रही थी और फिर सोमवार को उन्होंने पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. हलांकि जदयू छोड़ने के बाद वे किस पार्टी का दामन थामेंगी, इसका खुलासा उन्होंने अभी नहीं किया है. लेकिन इतना जरूर कहा कि थोड़ा इंतजार कर लें, सब पता चल जाएगा.

Check Also

भाजपा नेताओं ने झोंकी ताकत, खगड़िया संसदीय सीट से चाहिए भाजपा उम्मीदवार

भाजपा नेताओं ने झोंकी ताकत, खगड़िया संसदीय सीट से चाहिए भाजपा उम्मीदवार

error: Content is protected !!