Breaking News

विराट व्यास-गुरु पूर्णिमा महोत्सव को लेकर आयोजित बैठक में लिया गया महत्वपूर्ण निर्णय

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : 12-13 जुलाई को बनारसी लाल सर्राफ वाणिज्य महाविद्यालय नवगछिया के प्रांगण में आयोजित होने वाले 13वां विराट व्यास-गुरु पूर्णिमा महोत्सव को लेकर बुधवार को परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज के सानिध्य में एक बैठक का आयोजन किया गया. बैठक को सम्बोधित करते हुए स्वामी जी ने कहा कि व्यास-गुरु पूर्णिमा संयम, सेवा, स्वाध्याय, सानिध्य, समर्पण का पर्व है. कार्य व्यवस्था में आपसी परस्पर सम्बन्ध तथा वृद्ध पुरुष व महिला व लाचार को ससम्मान प्राथमिकता और श्री शिवशक्ति योग पीठ की सभी शाखाओं का सहयोग अनिवार्य है. जिसको लेकर समय -समय पर गाइडलाइन दिया जाएगा. वहीं बताया गया कि पुन: 26 जून को एक बैठक आयोजित किया जाएगा. जिसमें कमेटी का गठन के साथ साथ श्रीशिवशक्ति योग पीठ के स्वयंसेवक को कार्य भार सौंपा जाएगा.

मौके पर अन्य लोगों ने भी अपने विचारों को व्यक्त किया. बताते चलें कि श्री शिव शक्ति योग पीठ नवगछिया के तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम को लेकर आमलोगों के अलावा शिक्षाविद् में भी खुशी का माहौल बना हुआ है. कार्यक्रम में बड़ी संख्या में परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज के अनुयायी शिरकत करेगे.

बैठक में स्वामी शिवप्रेमानंद, स्वामी मानवानंद, पंडित प्रेमशंकर भारती, कुंदन बाबा, मृत्यंजय सिंह गंगा, शेलैश कुमार, प्रभात कुमार सिंह, राजेश कुमार सिंह, रौशन सिंह, रणवीर सिंह, युवराज सिंह, अनिल सिंह, पिंटू तिवारी, मोहन सिंह, मुकुल चौधरी, संजीव भगत, माधव आदि सहित भागलपुर, नवगछिया, खगड़िया, सहरसा जिले के लोग उपस्थित थे. बैठक में महाविद्यालय परिवार के शिक्षाविद् एनसीसी कैडेट के छात्र-छात्राएं सेवा भाव को लेकर तत्पर दिखें. वहीं उपस्थित लोगों ने विराट व्यास-गुरु पूर्णिमा महोत्सव को एतिहासिक बनाने के लिए तन, मन, धन से सहयोग करने बात कहीं.

श्री शिवशक्तियोगपीठ का उद्देश्य

अंग की धरती पर अवतार लिए परमहंस स्वामी आगमानंद जी महाराज घर-घर में आध्यात्मिक ज्योति जलाकर लोगों को भगवान नाम का रस पान करा रहे हैं. सैकड़ों गांवों में लोगों को आध्यात्मिक, धार्मिक, समाजिक कार्यों से जोड़ कर सुन्दर परिवार बनाया जा रहा है. बताया जाता है कि आज इन संस्था से लाखों की संख्या में लोग जुड़े हुए हैं. संस्था का मुख्य उद्देश्य धार्मिक कार्यों का आयोजन, मठ,  मंदिर, धर्मशाला, गोशाला, विद्यालय, अस्पताल का निर्माण, आपदा के समय पीड़ितों की मदद, दीन- दुखियों, बच्चों, महिलाओं के सर्वांगीण कल्याण आदि जैसे कार्य शामिल हैं.

होगा भव्य पंडाल का निर्माण

महाविद्यालय के प्रांगण में भव्य धर्म मंच का निर्माण कर रंग बिरंगे फूलों की पंखुड़ियों से सुसज्जित किया जाएगा. साथ ही आमलोगों के लिए भी पंडाल का निर्माण किया जाएगा. वहीं गुरु भाई एवं बहनें कतारबद्ध होकर गुरु जी से आशीर्वाद प्राप्त करेंगे. कार्यक्रम को लेकर सभी विभाग के कमिटी का  गठन किया जाएगा.

लगभग पचास हजार से अधिक भक्तगण करेंगे शिरकत

नवगछिया के संजीव भगत उर्फ पप्पू बतातें हैं कि 13वें  गुरु पूर्णिमा महोत्सव में लगभग पचास हजार से अधिक भक्त गण पहुंचेंगे. इस क्रम में बिहार के लगभग सभी जिला सहित रांची, धनबाद, बोकारो, लखनऊ, वाराणसी, जयपुर, दिल्ली, बेंगलुरु, कलकत्ता, मुम्बइ, चेन्नई, इंदौर, जबलपुर, पूणे, असम, हैदराबाद, जम्मू कश्मीर आदि क्षेत्रों से स्वामी के शिष्य उपस्थित होकर गुरु जी से आशीर्वाद प्राप्त करेंगे. गुरु पूर्णिमा के दिन भक्तों के द्वारा रंग-बिरंगे फूल गुरु जी के चरणों में अर्पित किया जायेगा.


बताया जाता है कि गुरु पूर्णिमा के दिन बुढे, बच्चे नौजवान, माता व बहनें गुरु जी से आशीर्वाद पाने के लिए लाइन में कतार बद्ध होकर अपनी बारी का इंतजार करते हैं. जिससे उस दिन विभिन्न परिवारों का एक संगम स्थल बन जाता है तथा लोग एक-दूसरे से मिलकर आनंदित हो जाते हैं. यह अंग की धरती पर गुरु पूर्णिमा के दिन एक अद्भुत नजारा सा होता है.

Check Also

टल गया रेल हादसा, दुर्घटना होने से बाल-बाल बची वैशाली एक्सप्रेस

टल गया रेल हादसा, दुर्घटना होने से बाल-बाल बची वैशाली एक्सप्रेस

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: