Breaking News

फसल बर्बाद करने वाले पशुओं की अब खैर नहीं, पशुपालक को देना होगा जुर्माना

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले के परबत्ता प्रखंड के माधवपुर पंचायत में पशुपालक के द्वारा पशुओं को आवारा छोड़ देने के कारण आए दिन किसानों की फसल को नुकसान पहुंचने की खबर थी. जिसके कारण लड़ाई-झगड़े के मामले सामने आ रहे थे. पंचायत के मुखिया आशुतोष कुमार सिंह उर्फ बंटू सिंह ने इस विवाद को जड़ से समाप्त करने के लिए ग्राम सभा में पंचायत के सभी गांव में अरगरा व्यवस्था सुदृढ़ करने की बात रखी. जिसका ग्राम सभा में सभी लोगों ने ध्वनि मत से समर्थन दिया.

ग्राम सभा में अरगरा की व्यवस्था पास होने के बाद मुखिया की अध्यक्षता में माधवपुर, मुरादपुर एवं विष्णुपुर गांव में एक वर्ष के लिए अरगरा लेने के लिए न्यूनतम डाक रखा गया. माधवपुर गांव में शीत कुमार उर्फ डोमन, मुरादपुर में मुन्ना यादव, एवं विष्णुपुर में गोपाल सिंह ने राशि भुगतान कर अरगरा लिया. वहीं मुखिया आशुतोष कुमार सिंह उर्फ बंटू सिंह ने बताया कि पशुपालक अपने मवेशी को आवारा खेतों में छोड़ दिया करते थे. जिसके कारण प्रतिदिन झगड़ा -झंझट एवं मारपीट के साथ साथ केस मुकदमा हुआ करता था. इस बाबत सभी गांव में अरगरा की व्यवस्था की गई है. उन्होंने बताया कि खेतों में लगी फसल के दौरान यदि बकरी पकड़ा गया तो 100 रूपए एवं 24 घंटे के बाद 20 रूपए प्रतिदिन, गाय-भैंस के लिए 250 रूपए व 24 घंटे के बाद प्रतिदिन 100 रुपए एवं घोड़ा-घोड़ी के लिए 500 रूपए एवं 24 घंटे से अधिक होने पर 100 रूपए प्रतिदिन जुर्माना निर्धारित किया गया है. साथ ही 5 दिन तक यदि पशुपालक अपने पशुओं को नहीं ले जाते हैं तो उसे नीलामी कर दिया जाएगा. नीलामी की आधी राशि पंचायत मद में खर्च किए जाएंगे एवं आधी राशि अरगरा वाले को दिया जाएगा.

Check Also

एक झपकी लगी और उजड़ गई दुनिया, किसी घर का बुझा चिराग तो किसी का उजड़ा सुहाग

एक झपकी लगी और उजड़ गई दुनिया, किसी घर का बुझा चिराग तो किसी का उजड़ा सुहाग

error: Content is protected !!