Breaking News

खगड़िया में जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास के निर्माण का मार्ग प्रशस्त

लाइव खगड़िया : जिले में जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास के निर्माण का मार्ग प्रशस्त हो गया है. तीन सदस्यीय कमेटी ने अवध बिहारी संस्कृत महाविद्यालय, रहीमपुर के चयनित स्थल पर छात्रावास निर्माण को लेकर अनापत्ति प्रदान करने के लिए अपनी अनुशंसा कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय को भेज दी है. विश्वविद्यालय द्वारा भेजे गए तीन सदस्यीय कमेटी में पूर्व विधान पार्षद डॉ दिलीप चौधरी, रुदल राय एवं शकुंतला गुप्ता शामिल थे.

उल्लेखनीय है कि लंबे समय से जिले में जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास के निर्माण के लिए भूमि की तलाश थी. इस बीच सदर प्रखंड स्थित अवध बिहारी संस्कृत महाविद्यालय, रहीमपुर की अधिकारिता वाली 1 एकड़ जमीन को चिन्हित कर कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत महाविद्यालय से अनापत्ति प्रमाण पत्र की मांग की गई थी. अनापत्ति प्रदान करने को लेकर कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के सिंडिकेट की बैठक में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया था. वही कमेटी को स्थल का भौतिक जांच करते हुए अपनी अनुशंसा सहित प्रतिवेदन भेजने का निर्देश गया था.

इधर कमेटी के सदस्यों के द्वारा गुरूवार को प्रस्तावित जमीन का मुआयना किया गया. वहीं कमेटी के सदस्यों ने छात्रावास निर्माण के पक्ष में अपनी अनुशंसा कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय को भेजने की घोषणा की और कमेटी के अनुशंसा के आलोक में प्रतिवेदन विश्वविद्यालय के कुलपति को प्रेषित कर दिया गया. बताया जाता है कि विश्वविद्यालय का अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त होते ही जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास के निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा.

विदित हो कि कर्पूरी जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास का निर्माण कल्याण विभाग के द्वारा कराया जा रहा है और इसके लिए कार्यकारी एजेंसी के रूप में बिहार राज्य पुल निर्माण निगम को चयनित किया गया है. जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास का निर्माण राज्य सरकार की एक अत्यंत ही महत्वाकांक्षी योजना है. जननायक कर्पूरी ठाकुर छात्रावास में अति पिछड़ा वर्ग के इंटरमीडिएट या इससे ऊपर के पाठ्यक्रम के छात्रों को आवासीय सुविधा प्रदान की जाती है. बताया जाता है कि जिले में छात्रावास निर्माण से खगड़िया सहित मुंगेर एवं बेगूसराय जिले के अति पिछड़ा वर्ग के छात्रों को लाभ मिलेगा.

इस अवसर पर जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष, अपर समाहर्ता शत्रुंजय कुमार मिश्रा, अनुमंडल पदाधिकारी धर्मेंद्र कुमार, जिला कल्याण पदाधिकारी अमरेंद्र कुमार मिश्रा, अंचलाधिकारी अंबिका प्रसाद, जदयू के जिला अध्यक्ष बबलू मंडल, जदयू नेता चंद्र किशोर कुमार, बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के अभियंता आदि उपस्थित थे.

Check Also

संस्कृत के बिना संस्कृति को बचाना मुश्किल : शंकर शर्मा

संस्कृत के बिना संस्कृति को बचाना मुश्किल : शंकर शर्मा

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: