Breaking News
सांकेतिक फोटो

कोसी व बूढ़ी गंडक उफान पर, बागमती स्थिर व गंगा के जलस्तर में गिरावट

 


लाइव खगड़िया : जिले से बहने वाली बागमती नदी का जलस्तर स्थिर होने की खबर है. जबकि कोसी व बूढ़ी गंडक नदी के जल स्तर में वृद्धि जारी है. वहीं गंगा नदी के जल स्तर में गिरावट दर्ज की गई है. शुक्रवार की सुबह प्रशासनिक स्तर से जारी रिपोर्ट्स के अनुसार बूढ़ी गंडक, कोसी व बागमती नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही थी. जबकि गंगा का जल स्तर खतरे के निशान से नीचे था.

OFFER

शुक्रवार की सुबह छह बजे के जारी रिपोर्ट्स के अनुसार बागमती नदी खतरे के निशान से आज भी 2 मीटर 67 सेंटीमीटर ऊपर था. साथ ही कोसी नदी भी खतरे के निशान से 2 मीटर 02 सेंटीमीटर ऊपर था.

कोसी नदी का जल स्तर बलतारा के समीप समुद्र तल से 35.87 मीटर की ऊंचाई पर था. जबकि बागमती नदी संतोष स्लुईस गेट के समीप समुद्र तल से 38.30 मीटर की ऊंचाई पर बह रही थी. गंगा का जलस्तर खतरे के निशान से 0.67 मीटर नीचे होने की खबर है. उधर विभिन्न नदियों के बढ़ते जलस्तर के बीच बाढ नियंत्रण प्रमंडल के 1 और 2 के अंतर्गत आने वाले सभी तटबंधों के सुरक्षित होने की खबर है. गौरतलब है कि जिले में पिछले 24 घंटे में 7.7 एमएम वर्षापात दर्ज की गई है.

उल्लेखनीय है कि नदियों के बढते जल स्तर के साथ जिले के 7 प्रखंडों के 36 पंचायत के 95 गांव बाढ़ की चपेट से प्रभावित हुआ है. जिससे कुल 80 हजार 9 सौ की आबादी प्रभावित हुई है. बाढ पीड़ितों के लिए प्रशासनिक स्तर से 7 जगहों पर सामुदायिक किचन चलाया जा रहा है. दूसरी तरफ शुक्रवार की सुबह के आंकड़ों के अनुसार बाढ पीड़ितों के बीच 1065 पॉलिथिन शीट एवं 5722 फूड पैकेट वितरित किया जा चुका था.

Check Also

महाविद्यालयों से विद्यालयों में इंटर छात्रों के स्थानांतरण की कवायद पर आक्रोश

महाविद्यालयों से विद्यालयों में इंटर छात्रों के स्थानांतरण की कवायद पर आक्रोश

error: Content is protected !!