Breaking News

निलंबित थानाध्यक्ष व दोनों टाइगर मोबाइल सहित कुल 5 पर प्राथमिकी दर्ज




लाइव खगड़िया : जिले के चित्रगुप्तनगर के निवर्तमान थानाध्यक्ष सुबोध पंडित पर टाइगर मोबाइल के दो जवानों की मदद से 14.60 लाख रूपये हड़पने और रूपये की जगह शराब प्लांट कर व्यवसायी के सहयोगी को जेल भेज देने के आरोप का जांच जैसे-जैसे आगे बढता जा रहा है वैसे-वैसे आरोपी पुलिसकर्मियों की मुश्किलें भी बढती जा रही है.

उल्लेखनीय है कि बीते दिनों प्रारंभिक जांच के दौरान मिले साक्ष्य के आधार पर पुलिस अधीक्षक मीनू कुमारी ने आरोपित तीनों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था. जबकि अब जांच प्रतिवेदन के आधार पर निलंबित थानाध्यक्ष सुबोध पंडित एवं टाइगर मोबाइल के जवान रंजीत कुमार व संजय कुमार सहित कुल पांच लोगों पर नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया है. गुरूवार की शाम मीडियाकर्मियों को जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक मीनू कुमारी ने बताया कि तीनों पुलिसकर्मियों सहित दो अन्य के विरूद्ध एफआईआर दर्ज किया गया है. वहीं उन्होंने बताया कि जांच के क्रम में मिले साक्ष्य में आरोपी पुलिसकर्मियों की भूमिका को संदिग्ध पाया गया है. ऐसे में तीनों पुलिसकर्मी सहित कुल पांच के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कर अग्रतर अनुसंधान करने को निर्देशित किया गया है.

मौके पर एसपी के द्वारा बताया गया कि 14.60 लाख रूपये गबन का जो आरोप लगाया गया है वो राशि गांजा तस्करी का प्रतीत हो रहा है. हलांकि कितनी राशि थी वो अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है. उन्होंने बताया कि आरोप लगाने वाला जिस वक्त युको बैंक जाने की बात कह रहा है, उस वक्त उसका मोबाइल लोकेशन समस्तीपुर जिले के बिथान का था. साथ ही उन्होंने बताया कि आरोप लगाने वाले का गांजा के कारोबार से जुड़े होने की बातें सामने आ रही है. इस संदर्भ में गहन जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. जिसका नेतृत्व सदर एसडीपीओ करेंगे. जबकि टीम में सदर इंस्पेक्टर बासुकीनाथ, नगर थानाध्यक्ष अविनाश कुमार सहित चित्रगुप्तनगर, अलौली व गंगौर थानाध्यक्ष शामिल हैं. वहीं एसपी ने बताया कि अनुसंधान के क्रम में शहर के नगर व चित्रगुप्तनगर थाना क्षेत्र में 15 से 20 साल के लड़कों के गिरोह द्वारा गांजा व शराब या फिर इससे प्राप्त राशि लूट लेने जैसी घटना को अंजाम दिये जाने की बातें भी सामने आ रही हैं. इस क्रम में यदि गिरोह के सदस्य लूट की घटना को अंजाम देने में सफल नहीं होते हैं तो थाना को इसकी सूचना देकर कार्रवाई कराते थे. इस दिशा में भी एसआईटी के द्वारा अनुसंधान किया जाना है. 

क्या था मामला !

जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मथार के जंगली टोला निवासी गौरव कुमार ने शनिवार को एसपी को आवेदन देकर चित्रगुप्तनगर के थानाध्यक्ष पर 14.60 लाख रूपये हड़पने और रूपयों से भरी बोरी में शराब रखकर सहयोगी राजा कुमार को जेल भेज देने का आरोप लगाया गया था. साथ ही टाइगर मोबाइल पर भी मिलीभगत का आरोप लगाया गया था. शिकायत मिलते ही मामले की गंभीरता को समझते हुए पुलिस अधीक्षक मीनू कुमारी उसी दिन देर शाम चित्रगुप्तनगर थाना पहुंच खुद मामले की पड़ताल की थी. साथ ही एसडीपीओ आलोक रंजन एवं सदर सीआई बासुकीनाथ को मामले की जांच का जिम्मा सौंप दिया गया था.

Check Also

आर्य कन्या उच्च विद्यालय की नई प्रबंध समिति ने संभाला कार्यभार

आर्य कन्या उच्च विद्यालय की नई प्रबंध समिति ने संभाला कार्यभार

error: Content is protected !!