Breaking News

त्यागी के नेतृत्व में पुल निर्माण को ले फिर एक आंदोलन की सुगबुगाहट

लाइव खगड़िया : जिले के तेताराबाद पंचायत के तेरासी गांव में सोमवार को एक बैठक का आयोजन किया गया. जिसमें खगड़िया और बेगूसराय जिला के दस पंचायतों के प्रतिनिधि एवं प्रबुद्ध लोगों ने भाग लिया. बैठक की अध्यक्षता सामाजिक कार्यकर्ता मनोज कुमार यादव एवं संचालन सुनील सिंह ने किया. मौके पर मुख्य रुप से खगड़िया और बलिया के बीच जलकौड़ा व तेरासी गांव के बीच वर्षों से लंबित गंडक नदी पर पुल निर्माण पर चर्चा किया गया. इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित युवा शक्ति के प्रदेश अध्यक्ष नागेंद्र सिंह त्यागी ने कहा कि 73 वर्षों से इस क्षेत्र की जनता पुल निर्माण के लिए गुहार लगा रहे है. इस क्रम में खगड़िया, साहेबपुर कमाल, अलौली एवं बखरी के विधायक से लेकर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान तक से आग्रह किया गया. लेकिन जनता को महज आश्वासन ही मिलता रहा. ऐसे में आज जरुरत है कि क्षेत्र की जनता जाति, धर्म, वर्ण और राजनीतिक दल की संकीर्णता से उपर उठकर पुल निर्माण के लिए संकल्पित हो और यदि ऐसा होता है तो केंद्र सरकार पुल निर्माण के लिए बाध्य हो जाएंगे. वहीं सामाजिक कार्यकर्त्ता मनोज कुमार यादव ने युवा शक्ति के प्रदेश अध्यक्ष नागेंद्र सिंह त्यागी के नेतृत्व में पुल निर्माण के लिए जन आन्दोलन करने की बातें कही.




बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित करते हुए कहा गया कि आंदोलन किसी बैनर के तहत नहीं किया जाएगा. जबकि आंदोलन की रूपरेखा के संदर्भ में बताया गया कि प्रथम चरण में दस पंचायत के प्रतिनिधियों का एक शिष्टमंडल खगड़िया के जिलाधिकारी से मिलेंगे और जनवरी तक चरणबद्ध रुप से जनआन्दोलन के लिए जागरुकता अभियान चलाया जाएगा. बाबजूद इसके यदि सरकार की नींद नहीं खुली तो विभिन्न विधान-सभा क्षेत्र में सरकार के खिलाफ घंटी बजाओ अभियान चलाया जाएगा.

मौके पर उपस्थित जिला परिषद सदस्य पिंटू कुमार ने पुल के लिए क्षेत्रवासियों के संघर्ष में साथ देने का आश्वासन दिया. वहीं अलौली के विधायक प्रतिनिधि कृष्ण कुमार सिंह ने बताया कि विधायक चंदन राम के द्वारा पुल निर्माण की दिशा में पहल पर ग्रामीण कार्य विभाग द्वारा पुल निर्माण हेतु डीपीआर बिहार सरकार को भेजा गया है. जिसकी लागत 54 करोड़ था. लेकिन इसका पुनः रिविजन कर 76 करोड़ का डीपीआर तैयार किया गया और फाइल पुल निगम को सौंप दिया गया है. साथ ही उन्होंने सत्ता पक्ष के स्थानीय जनप्रतिनिधियों पर पहल नहीं करने का आरोप लगाया. बैठक में युवा शक्ति के जिला उपाध्यक्ष मनीष कुमार, रामनाथ चौधरी, रामबालक सिंह, जवाहर राम, चंद्रशेखर तांती, कैलाश सिंह, मंटून सिंह, रामकुमार सिंह, अमलेश कुमार,  पंकज कुमार, विजय शर्मा, पप्पू सिंह आदि मौजूद थे.


Check Also

ऐतिहासिक पल : परबत्ता में आईटीआई कॉलेज का उद्धाटन

ऐतिहासिक पल : परबत्ता में आईटीआई कॉलेज का उद्धाटन

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: