Breaking News

आखिरकार टूट ही गया लगार का रिंग बांध,मचा हाहाकार




लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले के परबत्ता प्रखंड अंतर्गत लगार पंचायत के वार्ड नम्बर 8  के छोटी लगार गांव का रिंग बांध गुरूवार की सुबह आखिरकार टूट ही गया. उल्लेखनीय है कि पानी के बढ़ते दबाव के बीच करीब एक सप्ताह से ग्रामीण इस रिंग बांध को बचाने के लिए दिन-रात एक किये हुए थे. इस क्रम में ग्रामीणों के द्वारा आर्थिक के साथ-साथ शारीरिक सहयोग भी दिया जा रहा था. साथ ही ग्रामीण रिंग बांध को टूटने से बचाने के लिए प्रशासनिक स्तर से भी सहयोग की गुहार लगाते रहे. लेकिन ग्रामीणों को आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिला, ग्रामीणों की कड़ी मशक्कत भी बेकार गई और रिंग बांध टूट ही गया.

24 सितंबर को डीएम ने किया था निरीक्षण

लगार के रिंग बांध का 24 सितंबर को डीएम अनिरूद्ध कुमार सहित अन्य वरीय पदाधिकारियों ने निरीक्षण किया था. वहीं डीएम ने बांध की हालत पर चिंता जताते हुए बरसात खत्म होते ही बांध को दुरूस्त करने की बातें कहीं थी. बहरहाल ये तो हुई भविष्य के योजना की बातें लेकिन अतीत के प्रशासनिक पहल पर अब तो सवाल खड़ा होता ही है.

ग्रामीण लगा रहे प्रशासनिक उपेक्षा का आरोप

ग्रामीणों का कहना है कि यदि प्रशासन मदद करती तो रिंग बांध को टूटने से बचाया जा सकता था. साथ ही बताया जा रहा है कि बांध टूटने के बाद भी अबतक स्थानीय प्रशासन मौके पर नहीं पहुंची है. हलांकी मध्य विद्यालय टीमापुर लगार में राहत शिविर खोला गया है. लेकिन वहां भी कुव्यवस्था के आलम का आरोप लगाया जा रहा है. कुल्हड़िया पंचायत के वार्ड प्रतिनिधि गौतम पोद्धार का कहना है कि बाढ़ पीड़ितों की मदद में प्रशासन कोताही बरत रही है. जीएन बांध पर अपना आशियाना बनाकर रहने वाले बाढ़ पीडित धूप व बाढ से परेशान थे ही और अब बारिश ने उनकी मुश्किलें बढ़ा दी है.




रिंग बांध टूटने से दो हजार की आबादी प्रभावित

रिंग बांध टूटने से छोटी लगार पंचायत के वार्ड  7 एवं 8 में बाढ़ का पानी फैल चुका है. जिससे लगभग दो हजार की आबादी प्रभावित हुआ है. बताया जाता है कि छोटी लगार का रिंग बांध टूटने से लगार -चकप्रयाग जमीनदारी बांध पर भी दबाव देखा जा रहा है.

तस्वीरों में देखें,रिंग बांध टूटने से हालात



Check Also

विभिन्न घटनाओं में आधा दर्जन की गई जान

विभिन्न घटनाओं में आधा दर्जन की गई जान

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: