Breaking News

अब प्रशिक्षित ग्रामीण चिकित्सक दे सकेंगे फस्ट ऐड रूपी बेहतर स्वास्थ्य सेवा

लाइव खगड़िया : सामुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता प्रशिक्षण के द्वितीय सत्र का शुभारंभ सिविल सर्जन डॉक्टर दिनेश निर्मल झा, डॉक्टर एस प्रयासी, डॉ राजीव कुमार , डॉ मनीष देव एवं मंकेश कुमार के द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया. सदर पीएचसी में आयोजित कार्यक्रम में सिविल सर्जन ने  ग्रामीण चिकित्सकों से मन से प्रशिक्षण लेने की बातें कही. साथ ही उन्होंने कहा कि प्रशिक्षण के उपरांत ना सिर्फ ग्रामीण चिकित्सकों की कार्यशैली बेहतर होगा बल्कि वे समाज में जागरूकता भी फैलाएंगे. वहीं उन्होंने बताया कि सप्ताह मात्र दो दिन शनिवार एवं रविवार को प्रशिक्षण कार्यक्रम होगा. जिसका आयोजन खगड़िया सहित अलौली, गोगरी, मानसी, बेलदौर, परबत्ता एवं चौथम के पीएचसी में किया जायेगा.

मौके पर डॉ प्रयासी ने कहा कि प्रशिक्षण के दौरान विभिन्न प्रकार के दवाओं के सेवन के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी जाएगी. साथ हई इसका सही उपयोग एवं सावधानियों के बारे में भी बतलाया जाएगा. वहीं डॉक्टर राजीव ने ग्रामीण चिकित्सक से मनोयोग से प्रशिक्षण लेने की अपील करते हुए कहा कि सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीण चिकित्सक ही फर्स्ट ऐड देने का काम करते हैं और निश्चय ही प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद वे बेहतर स्वास्थ्य सेवा दे पाएंगे.




कार्यक्रम के दौरान ग्रामीण चिकित्सा सेवा समन्वय समिति के जिलाध्यक्ष मंकेश कुमार ने कहा कि लोग ग्रामीण चिकित्सकों को झोला छाप के नाम से जानते थे. लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस शब्द के अवधारणा को बदल दिया है और अब ग्रामीण चिकित्सक को भी सम्मान मिला है.

उल्लेखनीय है कि जिले के सात प्रखंड से कुल मिलाकर 709 अभ्यर्थियों ने प्रशिक्षण के लिए आवेदन दिया था. जिसके प्रशिक्षण के लिए वर्ग का संचालन प्रखंड के पीएचसी में किया जा रहा है.

मौके पर ग्रामीण चिकित्सा सेवा समन्वय समिति के जिला महासचिव अमरेश कुमार ने बताया कि शनिवार को अलौली पीएचसी में भी प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्घाटन किया जाएगा. मौके सदर पीएचसी प्रभारी डॉक्टर राजीव कुमार , डॉक्टर मनीष कुमार , रामपत ठाकुर, ग्रामीण चिकित्सा सेवा समन्वय समिति के सदर प्रखंड अध्यक्ष पंकज पटेल, अलौली प्रखंड अध्यक्ष इकबाल हासमी, गोगरी प्रखंड अध्यक्ष अमित कुमार, मोहम्मद इस्लाम, श्रीराम, सुप्रिया, संध्या, संयुक्ता सिन्हा, मधुमाला कुमारी, गोविंद, दीपक, फैज़ान, तौसीफ, अनवर, इल्तिजा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण चिकित्सक मौजूद थे.


Check Also

फाइलों में चमकते हुए खगड़िया का है एक कृष्ण पक्ष भी

फाइलों में चमकते हुए खगड़िया का है अपना एक कृष्ण पक्ष भी

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: