Breaking News

हिन्दी : प्राचीन,समृद्ध व सरल भाषा, सम्मान,स्वाभाविक और गर्व की भाषा




लाइव खगड़िया : बिहारी सरकार के राजभाषा विभाग के निर्देशानुसार शनिवार को समाहरणालय के मुख्य सभाकक्ष में हिन्दी दिवस के अवसर पर एक समारोह का आयोजन किया गया. जिसकी अध्यक्षता अपर समाहर्ता शत्रुन्जय कुमार मिश्रा ने किया. वहीं उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि हिन्दी विश्व में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाओं में एक है. अंग्रेजी भाषा के बढ़ते चलन के बीच हिन्दी की अनदेखी करना एक भूल है.

इस अवसर पर उपविकास आयुक्त रामनिरंजन सिंह ने कहा कि विश्व की प्राचीन, समृद्ध और सरल भाषा होने के साथ-साथ हिन्दी हमारी राष्ट्र भाषा भी है. साथ ही उन्होंने यह कहा कि हिन्दी हमारे सम्मान, स्वाभिमान और गर्व की भाषा है और हिन्दी ने हमें विश्व में एक नई पहचान भी दिलाई है. वहीं उन्होंने कहा कि आजादी मिलने के दो साल बाद 1949 को संविधान सभा में एक मत से हिन्दी को राजभाषा घोषित किया गया था और इसके बाद से ही प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.




वहीं वरिष्ठ साहित्यकार सह पत्रकार रंजन वर्मा ने हिन्दी साहित्य पर प्रकाश डाला. जबकि कवियित्री स्वराक्षी स्वरा के द्वारा सारगर्भित वंदना प्रस्तुत किया गया. वहीं प्राचार्य डॉक्टर अमोद कुमार ने हिन्दी के प्रति प्रेम को दर्शाते हुए हिन्दी के सर्वव्यापी प्रचलन पर जोर दिया.

मौके पर मनरेगा के लोकपाल श्रीकांत यादव, गोपनीय पदाधिकारी ब्रजकिशोर चौधरी, जिला परिवहन पदाधिकारी पुरुषोत्तम कुमार, उपनिर्वाचन जितेन्द्र कुमार, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी नीना सिंह, जिला कल्याण पदाधिकारी रजनीकांत ओझा, जनसम्पर्क विभाग के अभिजीत आनंद, साहित्यकार कैलाश झा किंकर, डॉक्टर कविता परवाना, कवयित्री चम्पा राय, प्रधान लिपिक मणिभूषण चौधरी, अशोक कुमार शर्मा, शत्रुधन प्रसाद, संतोष कुमार सिन्हा, अविनाश कुमार, गौरव सोनी, सुमन कुमार आदि मौजूद थे.


Check Also

सार्वजनिक पुस्तकालय का शिलान्यास

सार्वजनिक पुस्तकालय का शिलान्यास

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: