Breaking News

CAB के विरोध में जमीअत उलमा ने निकाला मौन जुलूस

लाइव खगड़िया : जमीअत उलमा ए हिंद के आह्वान पर जिला जमीअत उलमा के द्वारा शुक्रवार को CAB के विरोध में मौन जुलूस निकला गया. जुलूस का नेतृत्व मरकजी जामा मस्जिद के इमाम मुफ्ती मुजाहिद उल इस्लाम कासमी ने किया. मौके पर पूर्व नगर सभापति सह जाप किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष मनोहर कुमार यादव भी मौजूद थे.

मौके पर मुफ्ती मुजाहिदुल इस्लाम ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल संविधान के मूल ढांचे के खिलाफ है और यह बिल पूरी तरह से असंवैधानिक व समानता के मौलिक अधिकार के खिलाफ है. वहीं मनोहर यादव ने कहा कि इस बिल के बहाने मोदी सरकार डॉक्टर भीमराव अंबेडकर द्वारा बनाए गए संविधान को खत्म करना चाहती है और इस बिल से हिंदुस्तान के नागरिकों को आने वाले वाले दिनों में नुकसान उठाना पड़ेगा. साथ ही उन्होंने कहा कि संविधान कहता है धर्म, जाति व रंग के आधार पर कोई कानून नहीं होगा. लेकिन वर्तमान सरकार अंग्रेजों की नीति बांटो और राज करो की नीति पर चल रही है.




मौन जुलूस में राजद, जाप, माले, हम के कार्यकर्ता भी शामिल हुए. वहीं 10 सदस्यीय  टीम के द्वारा जिलाधिकारी अनिरूद्ध कुमार को मांगों के संदर्भ में मेमोरेंडम भी सौंपा. जिसमें मुफ्ती मुजाहिद उल इस्लाम कासमी, इमाम  जामा मस्जिद खगड़िया ,मनोहर कुमार यादव, राजद के प्रखंड अध्यक्ष विवेकानंद कुमार, राजद के प्रदेश महासचिव नंदलाल मंडल, वार्ड पार्षद दीपक चंद्रवंशी, हम के जिलाध्यक्ष संजय यादव, पूर्व पार्षद मोहम्मद जावेद अली, माले के जिला महामंत्री प्रभाकर शंकर सिंह, अब्दुल गनी सरपरस्त जिला जमीयत के अब्दुल गनी, पूर्व वार्ड पार्षद सह जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव मोहम्मद शहाबुद्दीन, राजद के पप्पू कुमार, मोहम्मद जैनुल शामिल थे. जबकि जुलूस में जमीयत उलमा के अध्यक्ष सैयद खालिद नाजनी, जिला महासचिव कारी सरफराज आलम, सचिव हाजी मंजूर आलम, पूर्व अध्यक्ष कारी बुरहानुद्दीन वली रहमानी, प्रो. मोहम्मद अकील अहमद, कोषाध्यक्ष मोइनुद्दीन, वकील मोहम्मद साजिद रफीक, मो. शिवली रहमानी, मोहम्मद जफर अली, मोहम्मद हैदर अली, कारी जावेद अख्तर, हाफिज एहतेशाम, मोहम्मद परवेज आलम, कारी एनुलहक, मौलाना शाहिल जमाल, मो. गुड्डू , जुल्फीकार अली अहमद , मौलाना इमादउद्दीन आदि मौजूद थे.


Check Also

फाइलों में चमकते हुए खगड़िया का है एक कृष्ण पक्ष भी

फाइलों में चमकते हुए खगड़िया का है अपना एक कृष्ण पक्ष भी

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: