Breaking News

लैंगिक हिंसा के विरुद्ध जन जागृति अभियान रहना चाहिए जारी : डीएम

लाइव खगड़िया : लैंगिक हिंसा के विरुद्ध अंतर्राष्ट्रीय महिला जागरूकता पखवाड़ा के समापन के अवसर पर महिलाओं के विरुद्ध हिंसा के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलाया गया. साथ ही अभियान के दौरान बेहतर कार्य करने वाले पदाधिकारियों, कर्मियों एवं विद्यालयों को समाहरणालय के सभाकक्ष में आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष के द्वारा प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया.

इस अवसर पर संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि लैंगिक हिंसा के विरुद्ध जन जागृति हेतु अभियान चलते रहने चाहिए और महिलाओं के विरुद्ध ना तो किसी प्रकार की हिंसा करनी चाहिए और ना ही उसका समर्थन करना चाहिए. वहीं उन्होंने कहा कि संविधान में महिलाओं और पुरुषों को समान अधिकार प्राप्त हैं और उनके बीच किसी भी प्रकार का भेदभाव अनुचित है. सरकार के द्वारा भी महिलाओं के खिलाफ हो रही हिंसा की समस्या के समाधान के लिए वन स्टॉप सेंटर योजना की शुरुआत की गई. जिसका उद्देश्य लिंग आधारित हिंसा, स्वास्थ्य, मानवाधिकार और विकास के मुद्दों पर प्रभावकारी कदम उठाना है. उन्होंने कहा कि महिलाओं के विरुद्ध होने वाले यौन हिंसा, शारीरिक, आर्थिक एवं मनोवैज्ञानिक शोषण के विरुद्ध खड़ा होना चाहिए और आधी आबादी को सशक्त करने से ही समाज का पूर्ण विकास संभव है. किसी भी प्रकार की घरेलू हिंसा, महिला उत्पीड़न, हिंसा की शिकायत टॉल फ्री नंबर 181 पर दी जा सकती है.

लैंगिक हिंसा से जुड़ी घटनाओं के विरुद्ध शनिवार को जिले में विभिन्न विद्यालयों व आंगनवाड़ी केंद्रों में एवं जीविका दीदियों एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों के द्वारा हस्ताक्षर अभियान चलाया गया. जिसमें लगभग 900000 लोगों ने लैंगिक हिंसा के विरोध में अपना हस्ताक्षर दर्ज करा कर मुहिम को गति दिया. बताया जाता है कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में इस अभियान को शामिल कराने का प्रयास किया जाएगा.

लैंगिक हिंसा के विरुद्ध अंतरराष्ट्रीय पखवाड़े के समापन के अवसर पर शनिवार को समाहरणालय से एक प्रभात फेरी भी निकाली गई. जबकि जागरूकता अभियान के दौरान विभिन्न विद्यालयों, आंगनवाड़ी केंद्रों में क्विज प्रतियोगिता, मेहंदी प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता का आयोजन होता रहा और विद्यालयों में चेतना सत्र के दौरान छात्र-छात्राओं को इस संबंध में संवेदनशील बनाने का प्रयास किया गया. साथ ही जीविका दीदियों एवं स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों के द्वारा भी लैंगिक हिंसा के विरुद्ध प्रचार-प्रसार किया गया.

अंतरराष्ट्रीय महिला जागरूकता पखवाड़ा के समापन के अवसर पर आयोजित सम्मान समारोह में डीपीओ आईसीडीएस सुनीता कुमारी, परियोजना प्रबंधक वन स्टॉप सेंटर रूबी सीमा, जिला शिक्षा पदाधिकारी कृष्ण मोहन ठाकुर, डीपीएम शिक्षा कुमार अनुभव, सीडीपीओ खगड़िया रंजना कुमारी, डीपीएम जीविका विनय कुमार सिंह, प्रधानाचार्य,उत्क्रमित मध्य विद्यालय इस्लामपुर परबत्ता, जिला समन्वयक आईसीडीएस अंबुज कुमार सहित चुनिंदा पदाधिकारियों एवं कर्मियों को विशिष्ट प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया. साथ ही विभिन्न प्रखंडों में प्रखंड स्तर पर चयनित महिला पर्यवेक्षिकाओं, आंगनवाडी सेविकाओं, आशा- एएनएम, जीविका दीदियों एवं विद्यालय प्रधानों को भी प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया.

प्रशस्ति पत्र वितरण समारोह में अपर समाहर्ता मोहम्मद राशिद आलम, उप विकास आयुक्त संतोष कुमार, जिला पंचायती राज पदाधिकारी मोहम्मद फैयाज अख्तर, डीपीओ आईसीडीएस सुनीता कुमारी, परियोजना प्रबंधक वन स्टॉप सेंटर रूबी सीमा सहित जिले के विभिन्न विभागों के वरीय पदाधिकारी व कर्मी उपस्थित थे.

Check Also

पुण्यतिथि पर जार्ज फर्नांडिस को जदयू नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

पुण्यतिथि पर जार्ज फर्नांडिस को जदयू नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: