Breaking News

‘हम, भारत के लोग, भारत को एक…

लाइव खगड़िया : संविधान दिवस के अवसर पर शनिवार को समाहरणालय के सभाकक्ष में शपथ समारोह का आयोजन किया गया. कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष एवं पुलिस अधीक्षक अमितेश कुमार ने किया. वहीं जिलाधिकारी के नेतृत्व में पदाधिकारियों, कर्मियों एवं जीविका दीदियों के द्वारा संविधान के प्रस्तावना का वाचन किया गया एवं संवैधानिक अधिकारों एवं कर्तव्यों के अनुपालन का प्रण लेते हुए लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए कार्य करने की बातें कही गई.

मौके पर सभी ने भारत के संविधान की प्रस्तावना पढ़ते हुए कहा कि “हम, भारत के लोग, भारत को एक संपूर्ण प्रभुत्व-संपन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को: सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त कराने के लिए तथा उन सब में व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखंडता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए दृढ़संकल्प होकर अपनी इस संविधान सभा में आज तारीख 26 नवंबर, 1949 ई० (मिति मार्गशीर्ष शुक्ला सप्तमी, संवत् दो हजार छह विक्रमी) को एतद् द्वारा इस संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मार्पित करते हैं.”

विदित हो कि 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा ने भारत के संविधान को अपनाया. जो 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ. सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय (भारत सरकार) द्वारा 19 नवंबर 2015 को नागरिकों के बीच संवैधानिक मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए 26 नवंबर को प्रतिवर्ष ‘संविधान दिवस’ के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया. जिसके बाद प्रत्येक वर्ष 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है.

मौके पर जिलाधिकारी ने संविधान की प्रस्तावना का महत्व बताते हुए कहा कि भारतीय संविधान कई देशों के संविधान की अच्छी बातों को समावेशित कर काफी विचार-विमर्श उपरांत तैयार किया गया है. जिसमें लचीलापन भी है और आवश्यकतानुसार संविधान में संशोधन भी किया जा सकता है. साथ ही उन्होंने कहा कि संविधान की प्रस्तावना में गूढ़ शब्दों का प्रयोग किया गया है. जो पूरे संविधान की भावना को समझने के लिए महत्वपूर्ण है. वहीं उप विकास आयुक्त ने कहा कि संविधान में हमें अधिकार भी मिला है और कर्तव्य भी. ऐसे में आवश्यकता है कि अपने अधिकारों के प्रयोग के साथ-साथ कर्तव्यों का पालन भी करें. नीति निदेशक तत्वों का पालन लोक कल्याणकारी राज्य के निर्माण के लिए जरूरी है.

इस अवसर पर उप विकास आयुक्त संतोष कुमार, अपर समाहर्ता मोहम्मद राशिद आलम, जिला पंचायती राज पदाधिकारी मोहम्मद फैयाज अख्तर, जिला शिक्षा पदाधिकारी कृष्ण मोहन ठाकुर, मद्य निषेध अधीक्षक विकेश कुमार, वरीय उप समाहर्ता टेश लाल सिंह, डीपीएम (जीविका) विनय कुमार सिंह, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी आनंद प्रकाश सहित कई अन्य पदाधिकारी, कर्मी एवं जीविका दीदियां उपस्थित थीं.

Check Also

जनादेश से विश्वासघात के विरोध में भाजपा ने दिया धरना

जनादेश से विश्वासघात के विरोध में भाजपा ने दिया धरना

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: