Breaking News

देर रात फरिश्ता बन पहुंचा सलमान, खून देकर बचाई अमित के जिगर के टुकड़े की जान

लाइव खगड़िया : कौन हिंदू, कौन मुस्लिम, कौन सिख सरदार है… चीरकर देखो नसों को खून की एक धार है… एक शायर का यह शेर जिले के सलमान खुर्शीद पर बिल्कुल सटीक बैठता है. जिन्होंने जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे एक नवजात शिशु को खून देकर ना सिर्फ उसकी जान बचाई, बल्कि हिन्दू मुस्लिम एकता की एक मिसाल भी पेश कर गये.

दरअसल जिले के सदर प्रखंड के माड़र उत्तरी पंचायत निवासी पत्रकार अमित कुमार के नवजात शिशु को रक्त की सख्त जरूरत थी. बताया जाता है कि वह जोंडिस से पीड़ित था और जिंदगी और मौत से जूझ रहा था. गंभीर रूप से बीमार नवजात शिशु को जिले के सदर अस्पताल के चिकित्सक एवं स्थानीय प्राइवेट क्लिनिक के चिकित्सक ने जिले से रेफर कर दिया था. जिसके बाद उसे इलाज के लिए बेगूसराय ले जाया गया. जहां चिकित्सकों ने एक यूनिट ब्लड की जरूरत बताई. ऐसे में जिले के माड़र दक्षिणि पंचायत निवासी 25 वर्षीय मो सलमान खुर्शीद सामने आये और उन्होंने रक्तदान कर मानवता की मिसाल पेश किया.

बताया जाता है सूचना मिलते ही मो सलमान खुर्शीद देर रात ही घर से निकल गए और रात के करीब 2 बजे वे बेगूसराय पहुंचकर नवजात के जीवन की रक्षा के लिए रक्तदान किया. बहरहाल नवजात का इलाज बेगूसराय में चल रहा है और उसकी स्थिति पहले से बेहतर बताई जा रही है.

इधर पत्रकार अमित कुमार ने विकट घड़ी में संबंल प्रदान करने के लिए डीएम आलोक रंजन घोष, परबत्ता विधायक डॉ संजीव कुमार, खगड़िया सदर अस्पताल के प्रबंधक शशि कुमार, ह्यूमैनिटि ब्लड ग्रुप के मन्नू सिंह, मारबाड़ी युवा मंच के सुजीत कुमार सहित मीडियाकर्मियों के प्रति आभार व्यक्त किया है.

Check Also

इंजीनियरिंग में पढ़ने के दौरान नीतीश देखा करते थे सिनेमा भी…

इंजीनियरिंग में पढ़ने के दौरान नीतीश देखा करते थे सिनेमा भी...

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: