Breaking News

गंगा महासेतु के सभी 45 पीलरों का निर्माण कार्य बाढ़ के पूर्व होगा पूर्ण




लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) :  बिहार सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक जिले के परबत्ता प्रखंड के दक्षिणी छोड में अगुवानी-सुल्तानगंज गंगा नदी पर महासेतु का निर्माण कार्य चरम पर है. मुख्य धारा पर दो पीलर को छोड़ सभी पिलरों का कार्य पूर्ण होने की बात कही जा रही है. बताया जाता है कि इस वर्ष गंगा में जलस्तर बढ़ने के पूर्व ही सेतु के सभी 45 पीलरों का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा.

एप्रोच पथ को लेकर विभाग उदासीन

एनएच 31 व 80 को आपस मे जोड़ने वाले महासेतु के एप्रोच पथ का निर्माण कार्य अबतक तक शुरू भी नहीं हो सका है. जबकि फसल कटाई के बाद एप्रोच पथ का कार्य शुरू किया जाना था. मामले पर कंस्ट्रक्शन कम्पनी से जुड़े कर्मी बताते हैं कि अभी तक राज्य सरकार के तरफ से भू-अर्जन कर जमीन नहीं सौंपा गया है. जिसके चलते कार्य शुरू नहीं हो पाया है. जबकि तत्कालीन जिला भू-अर्जन पदाधिकारी शाहनवाज अहमद नियाजी के द्वारा बीते जनवरी माह में  शिविर के माध्यम से कार्यस्थल पर ही भू-अर्जन की समस्या का निदान करने का पहल किया गया था. जिसके बाद दर्जनों किसानों ने मुआवजा प्राप्त कर लिया. दूसरी तरफ कुछ किसान विभागीय कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं.




मिली जानकारी के अनुसार एप्रोच पथ के लिये कुल 198.479 एकड़ भूमि का अधिग्रहण कर निर्माण कंपनी को सौंपा जाना है. लेकिन अबतक इस कार्य में प्रगति कच्छप गति का ही रहा है. खगड़िया के जिला पदाधिकारी के द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार भागलपुर जिला के सुल्तानगंज तथा खगड़िया जिले के अगुवानी घाट के बीच फोर लेन पुल एवं संपर्क पथ के निर्माण हेतु राजस्व थाना गोगरी के परबत्ता एवं गोगरी अंचल अंतर्गत ग्राम/वार्ड सियादतपुर अगुवानी, तेमथा करारी, रामपुर उर्फ रहीमपुर, टीमापुर उर्फ लगार, वैसा, पिपरा लतीफ, तेमथा अराजी पटपर, बन्देहरा, शेरचकला एवं सोन्डिहा के थाना नंबर 380, 382/1, 373, 379, 352, 351, 384, 385, 335 एवं 336 का कुल 198.479 एकड़ यानि 80.323 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण कर निर्माण कंपनी को सौंपा जाना है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 23 फरवरी 2014 को किया था महासेतु का शिलान्यास

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 23 फरवरी 2014 को परबत्ता के केएमडी कॉलेज मैदान से महासेतु का शिलान्यास किया था. 1710 करोड़ की लागत से फोरलेन महासेतु के अलावा एप्रोच पथ का निर्माण किया जाना है. मार्च 2015 से ही एसपी सिंगला कंस्ट्रक्शन कम्पनी रात-दिन एक कर महासेतु निर्माण कार्य में लगा है. गौरतलब है कि राष्ट्रीय उच्च पथ-31 स्थित पसराहा एवं मुंगेर-भागलपुर राष्ट्रीय उच्च पथ 80 स्थित सुल्तानगंज के पास फोरलेन सड़क का मिलान किया जाना है. गंगा घाट अगुवानी सुल्तानगंज के बीच फोर लेन महासेतु का निर्माण कार्य जोरों पर है. महासेतु की लम्बाई करीब 3.16 किलोमीटर एवं एप्रोच पथ की लम्बाई करीब 25 किलोमीटर होगी. जबकि आगामी मार्च 2020 तक इस महासेतु पर आवागमन शुरू करने का विभागीय निर्देश है.

कर्मियों को विशेष सुरक्षा टिप्स

निर्माण कार्य मे लगे मजदूरों की सुरक्षा के लिये कम्पनी द्वारा विशेष विभाग बनाया गया है. जो निर्माण के दौरान कर्मियों को सुरक्षा का विशेष ख्याल रखती है. सुरक्षा पदाधिकारी मो. वसीम ने बताया की समय-समय पर मॉक ड्रील के जरिये सुरक्षा को ध्यान मे रखकर विशेष प्रशिक्षण दिया जाता है. दूसरी तरफ प्रोजेक्ट डायरेक्टर आलोक झा बताते हैं कि तय वक्त मे पुल निर्माण कार्य पूर्ण करना हमारा लक्ष्य है. इस बार गंगा के जलस्तर बढ़ने से पहले सभी 45 पाया का निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा.


Check Also

विभिन्न घटनाओं में आधा दर्जन की गई जान

विभिन्न घटनाओं में आधा दर्जन की गई जान

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: