Breaking News

वैश्य समाज है सरकार से कुछ खफा-खफा..खिचड़ी पार्टी में छलका दर्द




लाइव खगड़िया : वैश्य जागृति मंच की एक बैठक मंगलवार की शाम स्थानीय एक विवाह भवन में आयोजित की गई.मकरसंक्रांति के अवसर पर आयोजित इस बैठक की अध्यक्षता वैश्य जागृति मंच के प्रमुख नितिन कुमार चुन्नू ने किया.जिसमें जिले के विभिन्न प्रखंडों के वैश्य समुदाय के लोगों ने भाग लिया.वहीं बिहार में वैश्य समाज के ऊपर अपराधियों के द्वारा हत्या,लूटपाट एवं बलात्कार की घटनाओं पर वैश्य समाज के प्रबुद्धजनों ने चिंता व्यक्त किया.

मौके पर अपने संबोधन में संगठन प्रमुख नितिन कुमार चुन्नू ने कहा जिस राज्य में कानून का उल्लंघन करने पर पूरे थाने के पुलिसकर्मियों का तबादला किया जाता हैे,उस राज्य कीक्षकानून व्यवस्था की स्थिति को सहज ही समझा जा सकता है. 

वहीं भदास के सरपंच अजीत कुमार आजाद एवं रहीमपुर पंचायत के मुखिया मख्खन साह ने कहा कि वैश्य समाज पर हो रहे हमले और अपराध पर लगाम नहीं लगाई गई तो हर जिले में वैश्य समाज जनआंदोलन को बाध्य होंगे.जबकि वैश्य नेता विवेक भगत एवं धर्मेन्द्र कुमार ने कहा कि राजनीति में वैश्य समाज की भागीदारी नहीं के बराबर है. हर सदन में वैश्य समाज के लोगों का भी उपस्थिति होनी चाहिए,ताकि हमारी भी आवाज सुनने वाला कोई हो.

मौके पर नशा मुक्त भारत के संस्थापक प्रेम कुमार यशवंत ने कहा कि बिहार सरकार ने शराबबंदी कानून लागू कर एक अच्छा काम किया है.लेकिन इस कानून को सरजमी पर उतारने में राज्य प्रशासन पूरी तरह विफल रही है.सरकारी कर्मचारी एवं सफेदपोशो के संरक्षण में शराब का धंधा राज्य में फल-फूल रहा है.

बैठक की समाप्ति उपरांत सामाजिक समरसता का प्रतीक “खिचड़ी” के भोज का भी आयोजन हुआ.भोज में उपस्थित वैश्य नेता कुलदीप आनन्द एवं कुमार सानू ने कहा कि वैश्य समाज सभी वर्गों व सभी धर्मों को अपने में समाहित कर समाज के हर वर्ग को प्रेम व सम्मान देता है और लोगो से उम्मीद रखता है कि इस समाज के साथ भी सम्मानपूर्वक व्यवहार हो.

मौके पर अंतर राष्ट्रीय डेटेड शतरंज खिलाड़ी जे.के.जवाहर,शिक्षक अविनाश चन्द्र विद्यार्थी,शत्रुघ्न भगत,नन्दू साह,सुरेश पोद्दार,नीरज गुप्ता,संजय जयसवाल,विक्की भगत,संजीव पोद्दार,बबूल साहू,राज किशोर चौरसिया,मधू पटवा,मनीष कुमार,रवि भूषण प्रसाद ,वकील साहू, संजय साह आदि उपस्थित थे.

Check Also

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: