Breaking News

न्यायालय के आदेश पर बंद पड़े पुस्तकालय भवन का खोला गया ताला




लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले के परबत्ता प्रखंड के रामपुर उर्फ रहीमपुर पंचायत अंतर्गत लेनिननगर तेमथा गांव में नवनिर्मित सार्वजनिक पुस्तकालय भवन का ताला शुक्रवार को दर्जनों ग्रामीणों की उपस्थिति में स्थानीय मुखिया दयानंद दास के द्वारा खोला गया.उल्लेखनीय है कि उद्धाटन के पूर्व ही नवनिर्मित सार्वजनिक पुस्तकालय भवन नामकरण को लेकर  विवादों मे पड़ गया था और स्थानीय सांसद को उद्धघाटन के बगैर ही लौटना पड़ा था.

मामले पर ग्रामीणों ने बताया कि कुछ लोगों के द्वारा जानबूझकर मामले को तुल दिया गया था.लेकिन जनहित भावना का ख्याल रखा गया.वहीं पुस्तकालय का ताला खुलने पर सरपंच राजीव कुमार उर्फ विशोक मंडल, भोला  मंडल,भूषण मंडल,विकास कुमार,श्रीलाल दास,विनय भगत,परमानंद मंडल,भोला मंडल सहित दर्जनों ग्रामीणों ने प्रसन्नता व्यक्त किया है. 

बताया जाता है कि रामपुर उर्फ रहीमपुर पंचायत के लेनिननगर तेमथा गांव में एक कट्ठा सार्वजनिक भूमि पर 80 के दशक में एक सार्वजनिक पुस्तकालय का नींव रखा गया.स्थानीय विधायक रामानंद प्रसाद सिंह ने 18 फरवरी 2006 को यहां सार्वजनिक पुस्तकालय भवन के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया.

वर्ष 2017 में  सांसद चौधरी महबूब अली कैसर ने सांसद निधि से भवन निर्माण कराने का सहमति प्रदान किया.लेकिन सांसद के अनुशंसा पत्र में सार्वजनिक पुस्तकालय के स्थान पर उपेन्द्र कला एवं साहित्य भवन का नाम अंकित था.इस नाम के साथ ही विवाद आरंभ हो गया.कुछ ग्रामीण इसे स्व. उपेंद्र मंडल के नाम से इस भवन का नामकरण करना चाहते थे.

मामले पर ग्रामीणों ने जिला पदाधिकारी,परबत्ता विधायक,उपविकास आयुक्त तथा परबत्ता थानाध्यक्ष को आवेदन देकर सार्वजनिक पुस्तकालय के नाम को बदलने का विरोध करते हुए लिखित आवेदन दिया.इस आवेदन के परिणामस्वरूप विधायक ने जिला पदाधिकारी को पत्र प्रेषित कर विवाद के निराकरण हेतु उचित कानूनी कार्रवाई करने का अनुरोध किया था.जिसकेे बाद अनुमंडलीय न्यायालय के आदेशानुसार इस भवन का ताला खोला गया.

Check Also

क्लास में उपस्थिति आवश्यक ही नहीं बल्कि अनिवार्य है : कुलपति

क्लास में उपस्थिति आवश्यक ही नहीं बल्कि अनिवार्य है : कुलपति

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: