Breaking News

पप्पू यादव की संभावनाओं से टिकट को लेकर महागठबंधन में बढ़ सकती है खींचातानी




लाइव खगड़िया : आगामी लोक सभा चुनाव के लिए खगड़िया संसदीय सीट पर दोनों ही प्रमुख गठबंधन के उम्मीदवारों के दावेदारी की साफ होती तस्वीरों के बीच जाप के राष्ट्रीय संरक्षक सांसद पप्पू यादव ने अपने ताजा बयान से चुनावी मैदान में संसय का धूंध फैला दी है.

पप्पू यादव के द्वारा जिले में रविवार को दिये गये बयान को राजनीतिक पंडित कई दृष्टि से देख रहे हैं.कल तक एकला चलों की तर्ज पर चलने वाले पप्पू यादव अब ना सिर्फ़ कांग्रेस की तरफदारी करते हुए नजर आ रहे बल्कि उन्होंने गठबंधन की अहमियत को भी स्वीकारा है.साथ ही उन्होंने जाप का किसी से भी गठबंधन होने की स्थिति में खगड़िया संसदीय सीट पर पार्टी की उम्मीदवारी का दावा कर टिकट के रेस में खींचतानी बढ़ा दिया है.

मौके पर उन्होंने अपराध के मामले को लेकर राज्य सरकार पर जिस ढंग से निशान साधा है उससे उनके महागठबंधन की तरफ मुखातिब होने का कयास लगाया जाने लगा है.इस बात को बल इसलिए भी मिल रहा है कि वे राजद व कांग्रेस को संप्रादायिक शक्तियों को उखाड़ने के लिए अहंकार छोड़ सबको लेकर चलने की पैरोकारी कर गये है.



ऐसे में माना जा रहा है कि यदि किसी भी स्थिति में जाप का महागठबंधन के साथ समझौता होता है तो महागठबंधन के घटक दलों के बीच खगड़िया सीट को लेकर खिंचातानी बढ़ सकती है.फिलहाल जो तस्वीरें उभड़ कर सामने आ रही है उसमें महागठबंधन से राजद नेत्री कृष्णा कुमारी यादव का नाम आगे चल रहा हैं.लोजपा के स्थानीय सांसद चौधरी महबूब अली कैसर की संभावनाएं धूमिल होने की चर्चाएं हैं.लेकिन उन्हें भी रेस में बताया जा रहा है.

हलांकि चर्चाओं पर यदि विश्वास करें तो अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव स्थानीय डॉ. चंदन यादव का नाम भी हवा में तैर रहा है.वे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के बेहद ही करीबी बताये जाते है.हाल ही में हुए चुनाव में उन्होंने छत्तीसगढ़ के प्रभारी के तौर पर अपनी भूमिका बाखूबी निभाई थी.वे मूल रूप से जिले के ही निवासी हैं.लेकिन हाल के दिनों में स्थानीय राजनीति में वे उतने सक्रिय नहीं दिखे हैं.

जहां तक खगड़िया से जाप के उम्मीदवारी का सवाल है तो दो नामों की चर्चाएं हैं. इसमें से एक नाम जाप सुप्रीमो पप्पू यादव का भी आ रहा है.बताया जाता है कि इस बार मधेपुरा से महागठबंधन के शरद यादव के नाम की संभावनाएं है और यदि पूर्णिया में भी हवा का रूख पप्पू यादव के पक्ष में नहीं रहा तो वे खगड़िया से अपनी किस्मत आजमा सकते हैं.वहीं जाप के दूसरे उम्मीदवार के तौर पर नगर परिषद के पूर्व सभापति सह जाप किसान प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष मनोहर कुमार यादव का नाम सामने आ रहा है.लेकिन इन सब के बीच एक बड़ा सवाल यह भी उठ रहा है कि क्या जाप को महागठबंधन में शामिल होने को राजद सहजता से ले पायेगी.ऐसे तमाम सवालों का जवाब तो वक्त ही बतायेगा.लेकिन इतना तो माना ही जा सकता है कि पप्पू यादव ने अपने ताजा बयान से खगड़िया संसदीय सीट के महागठबंधन के संभावित उम्मीदवारों के बीच एक हलचल पैदा कर दी है.दूसरी तरफ महागठबंधन के घटक दलों के बीच भी अभी सीटों को लेकर फैसला होना है.



Check Also

कलश स्थापना के साथ शारदीय नवरात्र शुरू, संध्या पूजन के लिए उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

कलश स्थापना के साथ शारदीय नवरात्र शुरू, संध्या पूजन के लिए उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: