Breaking News

पॉलिथीन कैरी बैग ! ना..बाबा..ना..,शिक्षक सहित छात्रों ने लिया संकल्प




लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले के परबत्ता प्रखंड अंतर्गत गोविन्दपुर पंचायत के कन्हैयाचक स्थित संत कोलम्बस स्कूल परिसर में शिक्षक-शिक्षिकाओं सहित छात्र -छात्राओं ने पॉलिथीन कैरी बैग का प्रयोग नहीं करने का संकल्प लिया.इस अवसर पर स्कूल के डायरेक्टर निरंजन शांडिल्य ने कहा कि बिहार सरकार ने 23 दिसंबर से पॉलिथीन बैग के यूज पर रोक लगा दी है.जो जीवनहित के लिए महत्वपूर्ण है.पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने के लिए पॉलिथीन का त्याग करना अत्यंत आवश्यक है.

साथ ही उन्होंने कहा कि पॉलिथीन के प्रयोग से सांस और त्वचा संबंधी रोग तेजी से बढ़ रहे हैं.इससे लोगों में कैंसर का भी खतरा बढ़ा रहा है.स्थिति ऐसी बन आई है कि पॉलीथीन के बढ़ते चलन के बीच लोगों में रोगों का संकट मंडरा रहा है.पॉलिथीन के जल्द नष्ट न होने के कारण यह भूमि की उर्वरा शक्ति को खत्म कर रहा है और गिरते भूजल स्तर की पॉलीथिन को एक बड़ा वजह माना जा हा है.यदि हम पॉलीथिन को जलाते हैं तो इससे निकले वाला धुआं ओजोन परत को नुकसान पहुंचाता जो ग्लोबल वार्मिंग का बड़ा कारण है.प्लास्टिक के ज्यादा संपर्क में रहने से लोगों के खून में थेलेट्स की मात्रा बढ़ जाती है.



विशेषज्ञों के अनुसार पालीथिन का कचरा जलाने से कार्बन डाईआक्साइड, कार्बन मोनोआक्साइड एवं डाईआक्सींस जैसी विषैली गैस उत्सर्जित होती है.जिससे सांस,त्वचा आदि की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है. सीवर जाम का भी पॉलिथीन सबसे बड़ा कारण रहा है.

वहीं कहा गया कि पर्यावरण को दूषित होने से बचाने के लिए हमें कपड़ा,जूट,कैनवास  और कागज के बैग का इस्तेमाल करना चाहिए.साथ ही घर से बाजार के लिए निकलने के वक्त कपड़ा या जूट का बैग साथ रखने की सलाह दी गई. इस अवसर पर स्कूली छात्र-छात्राओ ने “घर-घर में रहेगी कपड़ों की थैली” का नारा दिया.मौके पर स्कूल के प्रार्चाय प्रियरंजन कुमार, अंजनी कुमार, बेदानंद मिश्र, रत्नेश कुमार, सर्वेश कुमार, शिक्षिका अनुराधा कुमारी आदि उपस्थित थे.



Check Also

न जाने इस घर को लगी किसकी नजर, बिखर गया परिवार

न जाने इस घर को लगी किसकी नजर, बिखर गया परिवार

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: