Breaking News

युवा शक्ति ने किया डीएम से डुमरी घाट पर सरकारी नाव चलाये जाने की मांग

खगड़िया : युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष चंदन सिंह ने मंगलवार को जिला पदाधिकारी अनिरूद्ध कुमार से उनके कार्यालय में मुलाकात के दौरान डुमरी पुल से जुड़ी समस्याओं से भी अवगत कराया.मामले पर युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष ने बताया कि पुल क्षतिग्रस्त होने से इस मार्ग का सड़क संपर्क भंग हो चुका है.जिससे यात्रियों को परेशानी हो रही है.दूसरी तरफ वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर तैयार की गई जुगाड़ पुल पर भी संकट आ जाने से अब यात्रियों को फजीहत झेलना जैसे एक मजबूरी बन गई है.वहीं उन्होंने सरकारी नाव नहीं चलने से यात्रियों की परेशानियों का जिक्र करते हुए जिलाधिकारी से डुमरी पुल पर जल्द से जल्द सरकारी नाव चलाये जाने की मांग की है.

इस संदर्भ में युवा शक्ति नेता के द्वारा बताया गया कि लोग जान जोखिम में डालकर नाव के सहारे डुमरी घाट को आर-पार कर रहें हैं.क्योंकि निजी नाविकों के द्वारा ओवरलोडिंग जैसे एक आम बात है.ऐसे में हादसा होने की आशंका बनी रहती है.वहीं दूसरी तरफ निजी नाविकों के द्वारा यात्रियों से मनमाना किराया वसूला जाता है.इस क्रम में नाविकों और यात्रियों के बीच बराबर नोकझोंक होती रहती है.जो कभी-कभी तो मार-पीट की नौबत तक पहुंच जाती है.मौके पर उपस्थित लोगों सहित युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष चंदन सिंह ने जिला पदाधिकारी से ऐसे नाविकों पर कार्रवाई करने की मांग करते हुए जल्द से जल्द डुमरी घाट में सरकारी नाव की व्यवस्था किये जाने की मांग रखी.ताकि यात्रियों को थोड़ी सुविधाएं मिल सके.युवा शक्ति के जिलाध्यक्ष की मानें तो जिला पदाधिकारी के द्वारा मामले में पहल किये जानें का आश्वासन दिया गया है.साथ ही डीएम के द्वारा सरकारी नाव की व्यवस्था के साथ निजी नाविकों के मनमानी पर भी रोक लगाये जाने की बातें कही गई.

उल्लेखनीय है कि डुमरी घाट स्थित बी.पी.मंडल सेतु के क्षतिग्रस्त होने के बाद करीब 8 वर्षो से एन.एच.107 का यह भाग दो हिस्सों में बंटा हुआ है.हलांकि बीच में राज्य सरकार के द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में स्टील पाइल पुल का निर्माण कराया गया था.लेकिन वो पुल भी ज्यादा दिनों तक लोगों का साथ नहीं दे सका और नदी की तेज धार इस पुल को भी क्षतिग्रस्त कर गई.जिससे जिले के बेलदौर प्रखंड मुख्यालय का जिला मुख्यालय से सीधा सड़क संपर्क टूटा हुआ है.साथ ही इससे इस क्षेत्र के विकास कार्यों पर भी विपरीत प्रभाव पड़ा है.वहीं पुल के बंद होने से लोगों को विभिन्न समस्याओं से भी जूझना पड़ रहा है.यातायात के अभाव में विभिन्न सामग्रियों की मूल्य वृद्धि लोगों को महंगाई की दोहरी मार झेलने को विवश कर रही है.

Check Also

ऐतिहासिक पल : परबत्ता में आईटीआई कॉलेज का उद्धाटन

ऐतिहासिक पल : परबत्ता में आईटीआई कॉलेज का उद्धाटन

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: