Breaking News

बोले धीरेन्द्र सिंह टुडु, राष्ट्रीय किसान अधिवेशन रहा सफल




लाइव खगड़िया : “जिले में 23 व 24 जनवरी को आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय किसान अधिवेशन सफल रहा.” यह बातें राष्ट्रीय किसान समन्वय समिति के बिहार प्रभारी सह अधिवेशन की अध्यक्षता कर रहे धीरेन्द्र सिंह टुडु ने कहा.

वहीं उन्होंने बताया कि अधिवेशन के के दूसरे दिन संबोधित करते हुए राष्ट्रीय किसान समन्वय समिति के राष्ट्रीय संयोजक राजस्थान के दशरथ कुमार ने कहा कि आज जोत का जमीन घटता जा रहा है और कॉर्पोरेट बढ़ता जा रहा है.देश के दफ्तर में काम करने वाले चपरासी को 25 हजार रुपये, क्लार्क को 40 हजार रुपये, कनीय अधिकारी को 60 हजार रुपये, वरीय अधिकारी को 1 लाख रुपए मासिक वेतन मिलता है.जबकि किसानों की आय में बढोतरी नहीं हो रही है और उनकी स्थिति दिन प्रतिदिन बद्तर होती जा रही है.किसानों के उत्पादित अनाज का कीमत सरकारी कर्मियों की वेतनमान के तुलना में 5 प्रतिशत भी नहीं बढी है.ऐसे में एक तरफ अमीर और अमीर होता जा रहा है एवं गरीब की गरीबी बढती जा रही है.ऐसे में देश में चल रही इस दोहरी नीति के खिलाफ किसानों को एकत्रित होना होगा.




उल्लेखनीय है कि अधिवेशन के दौरान मध्य प्रदेश के राष्ट्रीय किसान जागृति के प्रमुख इरफान जाफरी, राष्ट्रीय किसान मजदूर महा संघ के राष्ट्रीय सचिव रवि दत्त सिंह, पंजाब हरियाणा के अन्न डाटा किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सरदार गुरमुख सिंह, भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधारी दीवान सिंह (उत्तर प्रदेश), सचिव रंजीत सिंह ने कई प्रस्तावों को रखा जिसे सर्वसम्मति से पास किया गया.

वहीं किसान विकास मंच का नाम बदल कर बिहार किसान मंच कर किया गया.जबकि बिहार किसान मंच का प्रदेश अध्यक्ष धीरेन्द्र सिंह टुडु को बनाया गया है.इस अवसर पर सरदार गुरमुख सिंह ने माला पहनाकर तथा इरफान जाफरी ने साल ओढ़ा कर धीरेन्द्र सिंह टुडु को सम्मानित किया.

मौके पर सूर्यनारायण वर्मा, उमेश यादव, नागेश्वर चौरसिया, योगेंद्र प्रसाद सिंह, देवानंद सिंह कुशवाहा, जितेंद्र यादव, चंदन कुमार, विनोद कुमार, रवि चौरसिया आदि उपस्थित थे.



Check Also

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: