Breaking News

मदद की नींव पर बुलंद होगी ‘नेकी की दीवार’,आप भी कमायें दुआएं




लाइव खगड़िया : जेब में यदि रूपये हो तो बाजार की हर चीजें खरीदी जा सकती हैं.लेकिन यदि आर्थिक तंगी की हालत हो तो जरूरत का समान भी लाना मुश्किल हो जाता है.इंसान की तीन मूलभूत जरूरतों में एक कपड़े का भी नाम आता है.लेकिन आर्थिक तंगी झेल रहे जरूरतमंदों को जरूरी कपड़े मुफ्त में दे दिये जाये तो पैसे ना सही लेकिन दुआएं तो कमाई ही जा सकती है.

श्री मारवाड़ी सेवा समिति ने जिले में जरूरतमंदों के चेहरे पर मुस्कान बिखेरने की एक अनोखी पहल की शुरुआत की है.मकर संक्रांति के पावन अवसर पर मंगलवार से स्थानीय श्री दुलारी कथा भवन में ‘नेकी की दीवार” नामक एक ऐसा बाजार सज चुका है जहां से गरीब व जरूरतमंद अपनी जरूरत के कपड़े बिल्कुल ही मुफ्त में बेहिचक ले सकते हैं.

श्री मारवाड़ी सेवा समिति द्वारा संचालित ‘नेकी की दीवार’ गरीब व जरूरतमंदों की मदद के लिए खड़ी की गई है.जहां से कोई भी व्यक्ति आवश्यकतानुसार कपड़े ले सकता है या फिर कोई भी व्यक्ति अपने अनुपयोगी कपड़े को यहां दान कर समिति की इस नेक मुहिम को गति प्रदान कर सकता है.

जिले में शुरू की गई इस नई पहल पर श्री मारवाड़ी सेवा समिति के अध्यक्ष सह जिले के प्रसिद्ध शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ.एस.के.पंसारी बताते है कि अमूमन हर घर में कुछ ऐसे कपड़े होते हैं जो परिवार के सदस्य नहीं पहनते या फिर छोटे हो गए होते हैं.लेकिन ये कपड़े किसी जरूरतमंदों के लिए बेहद ही काम का हो जाता है.ऐसे में श्री मारवाड़ी सेवा समिति के द्वारा ‘नेकी की दीवार’ के माध्यम से लोगों को एक मंच देने का प्रयास किया गया है.जहां कोई भी व्यक्ति घर में पड़े अतिरिक्त व गैरजरूरी कपड़ों को दान कर सकता है या फिर यहां से कोई भी जरूरतमंद बेहिचक अपने जरूरत के हिसाब से काम के कपड़े ले सकता है.

साथ ही उन्होंने समाज के लोगों से भी इस मुहिम का हिस्सा बनने की अपील किया है.बहरहाल श्री माड़वाड़ी सेवा समिति द्वारा जिले में शुरू की गई एक नई पहल गरीब व जरूरतमंदों के लिए वरदान साबित हो सकता है.लेकिन इसके लिए समाज के लोगों को भी सामने आकर इस मुहिम को अपना सहयोग प्रदान करना होगा.



Check Also

सर्वदलीय छात्र संघ के गठन को लेकर कवायद शुरू

सर्वदलीय छात्र संघ के गठन को लेकर कवायद शुरू

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: