Breaking News

पटाखों से नुकसान को ले बच्चों को किया गया जागरूक

लाइव खगड़िया : नशा मुक्त भारत नामक संस्था ना सिर्फ समाज को नशा से मुक्त करने की मुहिम में जुटी हुई है बल्कि पर्यावरण के प्रदूषण पर भी लोगों को जागरूक कर रही है.इसी कड़ी में बीते दिन नशा मुक्त भारत के बैनर तले शहर के उत्तरी हाजीपुर स्थित मध्य विद्यालय में आयोजित परिचर्चा के दौरान बच्चों को पटाखों से होने वाले नुकसान के बारे में बताया गया.

वहीं नशा मुक्त भारत के संस्थापक प्रेम कुमार यशवंत ने बच्चों से कहा की पटाखों से ना सिर्फ पैसों का नुकसान होता है बल्कि इससे ध्वनि व वायु प्रदूषण भी होता है.साथ ही उन्होंने बताया कि पटाखा छोड़ने से सल्फर डाइऑक्साइड और नाइट्रोजन डाइऑक्साइड आदि जैसे हानिकारक गैस हवा में घुल जाते हैं.जो मानव के शरीर के लिए नुकसानदायक होता है.


पटाखों की धुंध सांस फूलने,घबराहट,खांसी, ह्रदय व फेफड़े संबंधित रोग, आंख व गले का संक्रमण आदि के खतरे को बढ़ा देता है.पटाखों की तेज आवाज मनुष्य के कान के पर्दे को भी नुकसान पहुंचा सकता है.वहीं उन्होंने कहा कि पटाखा जलाने को वक्त हादसा होने की संभावना भी बनी रहती है.

कार्यक्रम का उद्घाटन शिक्षक नेता मनोज कुमार के द्वारा कैंडल जलाकर किया गया.जबकि नशा मुक्त भारत के जिला संयोजक बिरजू कुमार के उद्घोष पर बच्चों ने मिट्टी के दीये को हां और पटाखे को ना बोला.मौके पर कई बच्चों ने दीपावली में पटाखे की जगह दीप जलाकर खुशियां मनाने का संकल्प लिया.



Check Also

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

शांति, सत्य और करुणा के संदेशवाहक थे महात्मा बुद्ध

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: