Breaking News

पूर्व मुखिया का कदम-कदम पर 10 दिनों से मौत कर रही थी इंतजार…

लाइव खगड़िया : जिले के नगर थाना क्षेत्र के मील रोड में बीते शुक्रवार को पूर्व मुखिया पदुमलाल राय हत्याकांड का पुलिस ने लगभग उद्भेदन कर दिया है और साथ ही हत्याकांड में शामिल एक शार्प शूटर को भी अलौली के सतघट्टा से गिरफ्तार कर लिया है.मामले में कई चौकाने वाले तथ्य उभर कर सामने आये हैं.दरअसल घटना के पूर्व लगभग 10 दिनों से कदम-कदम पर मौत पूर्व मुखिया का इंतजार कर रहा था और घटना को अंजाम देने एक-दो नहीं बल्कि करीब आधे दर्जन शूटर मौके की तालाश में था.इस क्रम में पुलिस से लेकर मृतक के परिजनों तक की रेकी की जा रही थी.आखिरकार वह मनहूस घड़ी बीते शुक्रवार के रूप में सामने आई और मौका मिलते ही शूटरों की एक बड़ी गैंग में से एक ने उनका काम तमाम कर दिया.चर्चित घटना के संदर्भ में सोमवार की देर शाम आयोजित प्रेस वार्ता में पुलिस अधीक्षक मीनू कुमारी के द्वारा बताया गया कि घटना को अंजाम देने वाले बाइक सवार तीन अपराधियों में एक शगुन कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया है.जो जिले के अलौली प्रखंड के हथबन पंचायत के सतघट्टा गांव का निवासी है.वहीं उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अपराधी ने मामले में अपनी संलिप्ता स्वीकार कर ली है.बताया जाता है कि वो कांड के नामजद अभियुक्त लालो यादव का दाहिना हाथ था.घटना में उपयोग की गई बाईक भी मुखिया की ही बताई जा रही है.जबकि सीसीटीवी फुटेज,मोबाइल टावर डाटा व तकनीकी जांच के आधार पर एसआईटी शूटर शकुन कुमार तक पहुंचने में कामयाब रही.वहीं एसपी ने हत्याकांड को अंजाम दिये जाने के कारणों का खुलासा करते हुए बताया कि आनंदपुर मारन के वर्तमान मुखिया सह कांड के नामजद अभियुक्त लालो यादव का 78 एकड़ जमीन पर कब्जा था.जिसे पूर्व मुखिया मृतक पदुमलाल राय ने खरीद लिया था और उस जमीन को वो प्रशासन की मदद से वर्तमान मुखिया को बेदखल कर खुद के कब्जे में लेना चाहता था.जो वर्तमान मुखिया को नागबार गुजरा और उन्होंने पूर्व मुखिया को रास्ते से हटाने की एक खौफनाक साजिश रच दी.इस साजिश को अंजाम देने के लिए घटना के 10 दिन पूर्व से ही समस्तीपुर जिले के बिथान से लेकर अलौली आदि क्षेत्रों का शार्प शूटरों का एक गैंग नित्य शहर आ रहा था और पूर्व मुखिया की हत्या के लिए मौके की तालाश कर रही थी.जबकि घटना को अंजाम देने के पूर्व ही कांड के मुख्य अभियुक्त घर का सामान बांध लिया था.मौके पर एसपी ने बताया कि कांड का मुख्य साजिशकर्ता वर्तमान मुखिया ही था.बहरहाल पुलिस गिरफ्तार अपराधी से पूछताछ में जुटी है और साथ ही अन्य अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी के द्वारा लागातार छापेमारी की जा रही है.वहीं एसपी ने कांड के बाद सब्र और पुलिस प्रशासन के प्रति विश्वास जताने के लिए शहर के व्यवसायी वर्ग सहित आमजनों के प्रति शुक्रिया व्यक्त किया.उल्लेखनीय है कि घटना के 24 घंटे के अंदर ही कांड का उद्भेदन एवं अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस अधीक्षक के द्वारा सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आलोक रंजन के नेतृत्व में एसआईटी का गठन कर दिया गया था और घटना के महज चार दिनों के अंदर ही टीम को बड़ी सफलता भी हाथ लग गई.टीम में सदर अंचल निरीक्षक वासुकीनाथ झा,सदर थानाध्यक्ष रामदुलार प्रसाद,अलौली थानाध्यक्ष राजीव लाल,अमौसी पिकेट प्रभारी सफदर अली,पुलिस अवर निरीक्षक अरविन्द सहनी एवं तकनीकी सेल के रविशंकर भारती शामिल थे.

यह भी पढें : संभावित दुर्घटना को टालने के लिए विद्युत विभाग को पत्र लिखेगा नगर परिषद

Check Also

प्रमंडलीय आयुक्त ने किया मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य का निरीक्षण

प्रमंडलीय आयुक्त ने किया मतदाता सूची पुनरीक्षण कार्य का निरीक्षण

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: