Breaking News
Home / Recent / अपवादों को छोड़ दें तो ‘एक नेता-एक मौका’ ही होता रहा चरितार्थ

अपवादों को छोड़ दें तो ‘एक नेता-एक मौका’ ही होता रहा चरितार्थ




लाइव खगड़िया : लोकसभा चुनाव 2019 की डुगडुगी बज चुकी है और साथ ही चुनाव आचार संहिता भी लागू हो गया है.हलांकि अबतक एनडीए व महागठबंधन सहित अन्य दलों ने अपने-अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं किया है.लेकिन खगड़िया संसदीय क्षेत्र के इतिहास पर यदि नजर डालें और 60 के दशक में कांग्रेस के टिकट पर लगातार दो बार चुनाव जीतने वाले जिया लाल मंडल एवं 90 के दशक में जनता दल के टिकट पर लगातार दो चुनाव जीतने वाले रामशरण यादव को यदि अपवाद मान लें तो यहां के मतदाताओं ने दोबारा किसी प्रत्याशी पर अपना भरोसा नहीं जताया है.माना जा सकता है कि 1991 से यहां के मतदाता संसदीय चुनाव में ‘एक नेता-एक मौका’ को ही चरितार्थ करते रहे हैं.




खगड़िया संसदीय सीट से कांग्रेस के टिकट पर जिया लाल मंडल ने 1957 एवं 1962 में लगातार दो बार सांसद चुने गये थे.जबकि जनता दल की टिकट पर रामशरण यादव 1989 एवं 1991 में लगातार दो बार चुनाव जीतने में सफल रहे थे.इन दो नेताओं के अलावे खगड़िया संसदीय क्षेत्र के मतदाताओं ने अबतक किसी प्रत्याशी पर दोबारा ऐतबार नहीं दिखाया है.1957 व 1962 एवं 1989 व 1991 के इन चुनावों से इतर यदि चर्चा करें तो 1967 के चुनाव में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के कामेश्वर सिंह,1971 के चुनाव में सोशलिस्ट पार्टी के ही शिवशंकर प्रसाद यादव एवं 1977 में जनता पार्टी के ज्ञानेश्वर प्रसाद यादव जीत दर्ज करने में सफल रहे थे.जबकि 1980 के उपचुनाव में कांग्रेस एक बार फिर खगड़िया की सीट अपनी झोली में डालने में सफल रही थी और सतीश प्रसाद सिंह विजयी रहे थे.जबकि 1984 के चुनाव में कांग्रेस के चन्द्रशेखर वर्मा जीते थे.इसी तरह 1996 के चुनाव में जनता दल के अनिल कुमार यादव,1998 में समता पार्टी के शकुनी चौधरी,1999 के उपचुनाव में जदयू के रेणू कुमारी,2004 में राजद के रवीन्द्र राणा एवं 2009 के चुनाव में जदयू के दिनेश चन्द्र यादव ने जीत का परचम लहराया था.जबकि 2014 के चुनाव में लोजपा के चौधरी महबूब अली कैसर ने जीत दर्ज की थी.2014 चुनाव में भी यहां के मतदाताओं ने ‘एक नेता-एक मौका’ को ही चरितार्थ किया था और जदयू प्रत्याशी रहे तत्कालीन सांसद दिनेश चन्द्र यादव को तीसरे स्थान से संतोष करना पड़ा था.जबकि पहली बार संसदीय चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रही राजद प्रत्याशी कृष्णा कुमारी यादव ने मोदी लहर में एनडीए प्रत्याशी चौधरी महबूब अली कैसर को कड़ी टक्कर दी थी.इस चुनाव में विजयी रहे लोजपा के महबूब अली कैसर ने 3,13,806 एवं राजद के कृष्णा कुमारी यादव ने कुल 2,37,803 मत प्राप्त किया था.जबकि जदयू प्रत्याशी दिनेश चन्द्र यादव को 2,20,316 मत मिला था.


Check Also

गुरु पूर्णिमा महोत्सव का उद्घाटन करेंगे बिहार सरकार के मंत्री श्रवण कुमार

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : जिले  के कोसी-बागमती संगम स्थल से सटे बेलदौर के …