Breaking News
Home / सोशल / ब्रांडेड के चक्कर में बेटियों को मोहरा न बनायें : सुहेली मेहता

ब्रांडेड के चक्कर में बेटियों को मोहरा न बनायें : सुहेली मेहता

लाइव खगड़िया : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव अपनी पत्नी ऐश्वर्या के साथ रिश्ते को लेकर इन दिनों चर्चाओं में हैं.वैवाहिक संबंध तय करने के वक्त सामाजिक पहलूओ का जिक्र करते हुए जदयू के प्रदेश प्रवक्ता सुहेली मेहता ने भी अपनी बातों को रखा है.इस संदर्भ में उन्होंने अपने विचार को सोशल साइट के माध्यम से व्यक्त किया है.आगे उन्हीं के शब्दों में सोशल साइट पर शेयर की गई उनकी पोस्ट…

“मैं ऐश्वर्या और तेज प्रताप के वैवाहिक जीवन पर किसी भी तरह की राजनीतिक टिप्पणी न करते हुए यह कहना चाहती हूं कि गलती तो न तेज की है और न ही ऐश्वर्या क़ी…ये आज की सामाजिक समस्या है.ये तो बस एक उदाहरण है.चुंकि मामला राजनीतिक घराने का है इसलिए ज्यादा प्रकाश में आया..!! मैं अक्सर कहा करती हूं कि ज्यादातर बेटियों के अभिभावक या माता-पिता अपनी बेटी की शादी को बेटी के सुखी जीवन से ज्यादा अपनी प्रतिष्ठा से जोड़ कर तय करते हैं.कोई ब्रांडेड दामाद के चक्कर मे रहता है तो कोई ब्रांडेड समधियाना के..बेटी के लिए जीवनसाथी की खोज, उसके सपने और सुखी जीवन उनकी प्राथमिकता में नहीं रहती और इस प्रतिष्ठा के चक्कर मे बेटियां बलि चढ़ती हैं..!! इसी चक्कर मे दहेज प्रथा भी दिनों-दिन फल-फूल रहा है.तेज और ऐश्वर्या के मामले में माननीय विधायक श्री चंद्रिका राय या उनके परिवार की राजनीतिक महत्वाकांक्षा ने अपनी बेटी के वैवाहिक जीवन की बलि चढ़ाई..!!




वैसे ईश्वर करे कि सब ठीक हो जाये और दोनों अपने वैवाहिक जीवन में फिर से खुशहाल हों.हालांकि इनकी तो कोई दिक्कत नहीं ,तेज प्रताप को कोई न कोई राधा मिल ही जाएगी जिसकी खोज में वो हैं और स्वाभाविक है ऐश्वर्या को भी कोई न कोई जीवन साथी मिल ही जायेगा…!! जरूरत है समाज के अन्य लोगों को सोचने की कि जब वो बेटी का व्याह रचाने की सोचें तो बेटी के मान-सम्मान और स्वाभिमान का ख्याल रखें.अपने और अपने खानदान की प्रतिष्ठा और अपनी महत्वाकांक्षा का मोहरा अपनी बेटियों को न बनाएं….!!”