Breaking News
Home / आपका शहर / राहुल दिवाना : बहुमुखी प्रतिभा के धनी ईक अजनबी से अपनी पहचान तक…

राहुल दिवाना : बहुमुखी प्रतिभा के धनी ईक अजनबी से अपनी पहचान तक…

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : “ख्वाहिशें कई जिन्दगी की रह जातीं हैं यारों अधूरी…जैसे बातें किसी अजनबी से हो पाती नहीं कभी पूरी”…

जी हां…जिले के ही..जिले से ही जिस अजनबी बहुमुखी प्रतिभा की आज हम बात कर रहें हैं उनकी कला को शब्दों में नहीं समेटा जा सकता है और उस अजनबी बहुमुखी प्रतिभा की बातें भी कभी पूरी नहीं हो सकती है.क्योंकि उनकी कला में जो प्रवाह है वो अनवरत जारी है…बात गीत की हो या गजल की…बात देशभक्ति गीतों की हो या फिर भक्ति गीतों की…बात भोजपुरी की हो या हिन्दी की…बात गीतों की रचना का हो या फिर अभिनय का…हर विधा में माहिर फरकिया की मिट्टी का यह कलाकार कला के क्षेत्र में नित्य नई उंचाईयों को छूता जा रहा है.

शहर के बलुआही निवासी राहुल दिवाना एक उद्धोषक,अभिनेता व गायक के रूप में अपनी एक अलग पहचान बना चुके है.बहुमुखी प्रतिभा के धनी 38 वर्षीय राहुल दिवाना ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गृह जिले से ही पूरी की है.बताया जाता है कि बचपन से ही उनका गायन के प्रति लगाव रहा है.गीत-संगीत के बाजारों में उनके द्वारा गाये गये गीतों को अच्छा रिस्पांस भी मिल रहा है.सावन में राहुल दिवाना का गीतों पर शिव भक्त झूमने पर मजबूर हो जाते है.वो खुद ही होली,विवाह गीत,भक्ति,लोक गीत की रचना कर उन्हें अपना स्वर देते हैं.

राहुल दिवाना के विभिन्न विधाओं के कुछ गीतों के अंश को भी सुनें :-

साथ ही उन्होंने कई हिन्दी व भोजपुरी फिल्मों में अभिनय भी किया है.जिसमें हिन्दी की फिल्म ‘गंगा आईल हमार अंगना’,’महादेव तेरी शक्ति’ सहित हिट भोजपुरी फिल्म ‘लव के सौदा’ भी शामिल है.राहुल दिवाना इन दिनो रहिमपुर के सोनवर्षा उच्च विद्यालय में शिक्षक पद पर कार्यरत है.बताया जाता है कि वो बचपन से ही शनिवार को आयोजित होने वाले स्कूल के सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते रहे हैं और दिन प्रति दिन उनके कला में निखार आता गया.बहरहाल वो बिहार के कई जिलों सहित उत्तर प्रदेश, नेपाल ,असम आदि राज्यों में भी मंच पर अपनी कला का प्रदर्शन कर दर्शकों का दिल जीत चुके हैं.कला के क्षेत्र में एक अलग मुकाम पर पहुंच चुके राहुल दिवाना जाने-माने उद्धघोषक ए.के.पाण्डेय और फिल्म डायरेक्टर शंभु नाथ झा के योगदान को याद करना नहीं भूलते हैं.बहरहाल वो एक लघु फिल्म के निर्माण की तैयारियों में जुटे हुए हैं.अभिनय के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन को देखकर हिन्दी भाषा साहित्य परिषद के द्वारा उन्हें हरिवंश राय बच्चन स्मृति सम्मान से भी नवाजा जा चुका है.

यह भी पढें : सम्राट चौधरी को मिला भाजपा में प्रदेश उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी

Check Also

अच्छी पहल : वर्षों पुरानी वर्चस्व की लड़ाई का आपसी सहमति से पटाक्षेप

लाइव खगड़िया : किसी भी समाज में हिंसा व तनाव से किसी समस्या का हल …