Breaking News
Home / लाइव खगड़िया विशेष / खगड़िया के लाल के साथ बोल रहा बिहार – कहिए-कहिए जनाब,तौबा-तौबा शराब…

खगड़िया के लाल के साथ बोल रहा बिहार – कहिए-कहिए जनाब,तौबा-तौबा शराब…




लाइव खगड़िया (मनीष कुमार) : ‘नशा मुक्त बिहार’ अभियान के तहत सूबे के 32 रेलवे स्टेशनों पर नीतीश चन्द्रा का गाना ‘कहिए-कहिए जनाब,तौबा-तौबा शराब’ बजाये जाने की शुरूआत पिछले दिनों पटना रेलवे स्टेशन से रेलवे के एडीजी आलोक राज कर चुके है.उल्लेखनीय है कि इंडिया टीवी के बिहार संवाददाता नीतीश चन्द्रा के द्वारा तैयार की गई वीडियो एलबम ‘कहिए-कहिए जनाब तौबा-तौबा शराब,कहिए-कहिए जनाब छोड़ो-छोड़ो शराब’ में गीत के बोल खुद नीतीश चन्द्रा ने लिखी है.साथ ही उनके द्वारा ही इस गीत के लिए धुन तैयार की गई और आवाज भी उन्हीं की है.शराबबंदी के दो वर्ष पूरे होने पर बीते 5 अप्रैल को पटना में सीएम नीतीश कुमार ने इस म्यूजिक वीडियो का विमोचन किया था और इसके साथ ही नीतीश चन्द्रा का यह गीत बिहार में धूम मचाने लगी.




बहुमुखी प्रतिभा के धनी जर्नलिस्ट नीतीश चन्द्रा मूल रूप से खगड़िया जिला के ही हैं.जिले के सदर प्रखंड के रहीमपुर निवासी सेवानिवृत प्रशासनिक पदाधिकारी रामनाथ चौधरी के सबसे छोटे पुत्र नीतीश चन्द्रा विगत 15 वर्षों से इंडिया टीवी से जुड़े हुए है.बहरहाल वो पटना में रहकर मीडिया सहित संगीत के क्षेत्र में नित्य नई उचाईयों को छू रहे हैं. बताया जाता है कि नीतीश चन्द्रा का संगीत में भी बेहद रूचि रही है.बिहार में शराबबंदी लागू होने के बाद उन्होंने सरकार की मुहिम में अपनी भूमिका खुद तय की और इसी सोच के साथ जब उन्होंने ‘तौबा-तौब शराब’ तैयार किया तो वो गीत धूम मचा गया.इस संदर्भ में नीतीश चन्द्रा बताते हैं कि जब गीत तैयार कर उसे सीएम नीतीश कुमार को सुनाया गया तो उन्हें बेहद पसंद आया और इसके बाद तो शराबबंदी की मुहिम में यह जन-जन का गीत बन गया.साथ ही सीएम ने इस गाने को बिहार के हर स्कूलों में बच्चों तक पहुंचाने का ऐलान कर दिया.जबकि अब यह गाना बिहार के रेलवे स्टेशनों पर भी धूम मचाने को तैयार है.



दरअसल संगीत के क्षेत्र में नीतीश चन्द्रा का यह कोई पहला प्रयास नहीं था.इसके पूर्व भी वर्ष 2016 में उनकी ‘सॉन्ग इज वेटिंग फॉर सलमान मैरेज’ नामक एक एलबम सांसद शत्रुध्न सिन्हा ने लांच किया था.जिस एलबम में भी नीतीश चन्द्रा ने खुद अपनी ही धुन पर अपना आवाज दिया था.उस वक्त भी इस एलबम का ‘मेरे भैया की शादी है,झूमेंगे,नाचेंगे…प्यार के बंधन में बांध के भाभी को ले जाएंगे…’ काफी चर्चित रहा था.




दूसरी तरफ संगीत की दुनियां से इतर मीडिया जगत में भी नीतीश चन्द्रा एक अलग मुकाम पर पहुंच चुके है.यह उनके जज्बे व जुनून का ही प्रतिफल है है कि जब कभी बिहार सहित आस-पास के दूसरे राज्यों में भी इंडिया टीवी को कोई बड़ी स्टोरी या घटना कवर करने की बात आती है तो नीतीश चन्द्रा पर ही ऐतबार किया जाता है.बात चाहे वर्ष 2015 में नेपाल में आई भूकंप का हो,झारखंड में पीएम का कार्यक्रम का हो,बंगाल,यूपी,गुजरात चुनाव का हो,बनारस में पीएम के रैली का हो,यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के एक्सक्लूसिव इंटरव्यू का हो या फिर महाराष्ट्र के अन्ना मूवमेंट का…ऐसे महत्वपूर्ण मौकों पर इंडिया टीवी के हेड रजत शर्मा द्वारा विशेष संवाददाता के तौर पर यह जिम्मेदारी नीतीश चन्द्रा को ही दी जाती रही है और वो हर बार इस पर खड़े भी उतरते रहे हैं.अन्ना हजारे के गांव महाराष्ट्र के रालेगन सिद्धी में तैयार किया गया उनका एक घंटे का डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी काफी चर्चित रहा था.जिसको तैयार करने के लिए उन्हें अन्ना के गांव में 15 दिनों तक निवास करना पड़ा था.जबकि हाल ही में बिहार के बालू माफियाओं के खिलाफ ‘ऑपरेशन गंगा’ नामक उनकी रिपोर्ट खासा सुर्खियां बटोरी थी.वहीं सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद सुलगती आजमगढ शहर के डिजिटल शैतानी की तो उन्होंने पोल खोलकर ही रख दिया था.




नीतीश चन्द्रा के पिता रामनाथ चौधरी सहरसा के सलखुआ से प्रखंड विकास पदाधिकारी के पद से सेवानिवृत होने के उपरांत खगड़िया के जय प्रकाश नगर स्थित अपने निजी आवास पर सेटल्ड हो गए.नीतीश चन्द्रा भी समय-समय पर यहां परिजनों से मिलने आते रहते है.व्यस्त जिन्दगी के बीच छठ जैसे महापर्व पर तो उनकी उपस्थित गृह जिला में अनिवार्य मानी जाती है.तीन भाइयों में से सबसे छोटे नीतीश चन्द्रा के दो अन्य भाई भी मीडिया जगत में ही हैं.उनके बड़े भाई मनीष कुमार पटना में दैनिक जागरण के डिप्टी न्यूज एडिटर के पद पर कार्यरत है.जबकि उनका दूसरा भाई रजनीश चन्द्रा हैदराबाद के न्यूज 18 के मुख्यालय में कार्यरत है.मिली जानकारी के अनुसार नीतीश चन्द्र वर्ष 1990 में पढाई के सिलसिले में अपने गृह जिला से पटना आये.जहां उन्होंने पटना कॉलेज से इतिहास विषय में स्नातक किया.उसके उपरांत उन्होंने पटना यूनिवर्सिटी से ही एम.ए. की शिक्षा पूरी की.फिर वो स्टार चैनल की ‘आज की बात’ से बिहार से जुड़ गये.जिसके उपरांत वर्ष 2002-03 में में वो इंडिया टीवी के रजत शर्मा के साथ जुड़े और फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.इस दौरान वो मीडिया जगत की नित्य नई बुलंदियों को छूते ही चले गए.फिलहाल वो बिहार व झारखंड के संवाददाता के तौर पर अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाते हुए जिले का नाम रौशन कर रहे है.निश्चय ही बहुमुखी प्रतिभा के धनी स्थानीय नीतीश चन्द्रा जैसे शख्सियत पर जिला गर्व महसूस कर सकता है.


Check Also

फुटबॉल के इस दीवाने ने खेल के लिए शादी से कर लिया तौबा

लाइव खगड़िया (मुकेश कुमार मिश्र) : फीफा फुटबॉल विश्व कप के हलचल के बीच जिले …